हाईकोर्ट ने रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति की जमानत पर लगाई रोक

नई दिल्ली ( 28 अप्रैल ): गैंगरेप मामले में आरोपी समाजवादी पार्टी सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति की जमानत पर इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने शुक्रवार को रोक लगा दी। इस मामले में अगली सुनवाई दो हफ्ते बाद होगी।


गौरतलब है कि 25 अप्रैल को ही लखनऊ की पोक्सो कोर्ट ने गायत्री प्रजापति और दो अन्य आरोपियों विकास वर्मा और पिंटू सिंह को जमानत दे दी थी।


प्रजापति पर चित्रकूट की एक महिला ने आरोप लगाया है कि सपा सरकार में पूर्व मंत्री ने सपा में उच्च पद दिलाने के नाम पर उससे पिछले दो सालों में कई बार रेप किया और उसकी नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ भी की। महिला का आरोप है कि पुलिस ने उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की।

इलाहाबाद हाईकोर्ट से भी याचिका खारिज होने के बाद पीड़िता ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था जिसके बाद 17 फ़रवरी को सुप्रीम कोर्ट ने गायत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का आदेश दिया था।

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से कहा था कि आरोपी प्रभावशाली है तो इसका मतलब यह नहीं है कि पुलिस एफआईआर भी दर्ज न करे। इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच की जाए और फाइनल रिपोर्ट दाखिल की जाए।