लखनऊ में BJP नेता की चाकू गोदकर हत्या, विरोध में कार्यकर्ताओं ने किया भारी हंगामा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (4 दिसंबर): लगता है उत्तर प्रदेश में अपराधियों को कानून-व्यवस्था और पुलिस प्रशासन का कोई खौफ नहीं है। आलम ये है कि राज्य में पुलिस के साथ-साथ नेता तक सुरक्षित नहीं हैं। बुलंदशहर में पुलिस इंस्पेक्टर की हत्या के बाद सोमवार रात अज्ञात हमलावरों ने घर में घुसकर बीजेपी की चाकू गोदकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि मृतक प्रत्यूष मणि त्रिपाठी भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM)के नेता थे। बताया जा रहा है कि प्रत्यूष मणि त्रिपाठी अमीनाबाद के रहने वाले थे।भारतीय जनता युवा मोर्चा नेता की सरेआम हत्या से इलाके के लोग सकते में हैं वहीं बीजेपी के कार्यकर्ता हत्या की इस वारदात से खासे नाराज हैं। हत्या से नाराज कार्यकर्ताओं ने किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज ट्रॉमा सेंटर में जमकर बवाल काटा। ये सभी लोग लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी के इस्तीफे की मांग कर रहे है। ये लोग BJYM नेता  प्रत्यूष मणि त्रिपाठी के परिवार को मुआवजे के तौर पर 50 लाख रुपया मुआवजा दिए जाने के साथ-साथ हत्यारों को तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि 25 नवंबर को भी बदमाशों ने त्रिपाठी पर हमला किया था लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। इन लोगों का कहना है कि त्रिपाठी ने इसकी शिकायत एसएसपी नैथानी से भी की थी और सुरक्षा की मांग की थी।

महानगर थाने के सीओ संतोष कुमार सिंह का कहना है कि उन्हें रात 10.30 बजे यह सूचना मिली कि एक व्यक्ति का एक्सिडेंट हो गया है। जब पुलिस वहां पहुंची तब ट्रैक के पास त्रिपाठी का खून से सना शरीर मिला और पुलिस उन्हें केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर ले गई। जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सिंह ने बताया कि त्रिपाठी के शरीर पर चोट के निशान थें लेकिन पोस्टमॉर्टम के बाद ही मौत की असली वजह स्पष्ट होगी। वहीं लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि त्रिपाठी के करीबीयों द्वारा बताए गए नाम के आधान पर पुलिस हत्यारों को पकड़ने का प्रयास कर रही है।