BREAKING: रसोई गैस के दामों में 16 महीनों में 19 बार हुआ इजाफा

नई दिल्ली (2 नवंबर): एक बार फिर आम आदमी की रसोई पर महंगाई की मार पड़ने वाली है। सरकार ने सब्सिडी वाली रसोई गैस की कीमतों में 4.50 रुपये प्रति सिलिंडर और गैर-सब्सिडी वाले सिलिंडरों की कीमत 93 रुपये बढ़ा दी है। इसके अलावा जेट फ्यूल की कीमत में भी 2 फीसदी का इजाफा हुआ है। सीधा मतलब यह है कि आपके किचन का बजट और एयर टिकट, दोनों ही महंगा होने जा रहा है।

जुलाई 2016 के बाद से सरकार ने 19वीं बार रसोई गैस की कीमतों में इजाफा किया है। पिछले साल जुलाई में सरकार ने हर महीने कीमत बढ़ाकर गैस सिलिंडर पर सब्सिडी खत्म करने का निर्णय लिया था। तब से लेकर अबतक 19वीं बार कीमत में हुए इजाफे के मुताबिक घरेलू रसोई गैस का सब्सिडीयुक्त 14.2 किलोग्राम का एक सिलिंडर अब 495.69 रुपये में मिलेगा। बिना-सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलिंडर की कीमत 93 रुपये बढ़कर 742 रुपये प्रति सिलिंडर हो गई है। इससे पहले आखिरी बार एक अक्तूबर को इसकी कीमत 50 रुपये बढ़ाकर 649 रुपये की गई थी।

पिछले साल सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों से हर महीने कीमत वृद्धि करने के लिए कहा था ताकि अगले साल मार्च तक सब्सिडी को खत्म किया जा सके। इस नीति को लागू किए जाने के बाद से अब तक सब्सिडी वाले एलपीजी सिलिंडर के दाम में 76.51 रपये की वृद्धि हुई है। जून 2016 में इसकी कीमत 419.18 रुपये प्रति सिलिंडर थी।

सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों की अधिसूचना के अनुसार विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमत में भी दो प्रतिशत की वृद्धि की गई है। अगस्त से अब तक इसकी कीमत में भी यह लगातार चौथी वृद्धि है।पेट्रोलियम कंपनियों के अनुसार विमान ईंधन की दिल्ली में कीमत 54,143 रुपये प्रति किलोलीटर हो गई है। यह पिछली कीमत 53,045 रुपये प्रति किलोलीटर से 1,098 रुपये अधिक है। इससे पहले एक अक्तूबर को इसकी कीमत में छह प्रतिशत यानी 3,025 रुपये प्रति किलोलीटर की वृद्धि हुई थी।

सरकारी पेट्रोलियम कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी और एटीएफ की कीमतों को संशोधित करती हैं। यह पिछले माह तेल की औसत कीमत और विदेशी मुद्रा विनिमय दर पर निर्भर करती है।