प्रेमिका से मिलने पाक पहुंचा था भारतीय इंजीनियर, जासूसी के केस में 3 साल की जेल

इस्लामाबाद(17 फरवरी): मुंबई के एक युवक को प्रेमिका से मिलने पाकिस्तान पहुंचना भारी पड़ गया। जासूसी के आरोप में उसे तीन साल की सजा सुनाई गई है।

31 वर्षीय युवक हामिद नेहाल अंसारी को फेसबुक के जरिए पाकिस्तान की एक लड़की से प्यार हुआ। पाक अधिकारियों के मुताबिक उसने गैर-कानूनी तरीके से आने की बात स्वीकार की है। नेहल को रविवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के कोहट में सजा सुनाई गई। जेल प्रवक्ता के मुताबिक, उसे पेशावर सेंट्रल जेल में रखा गया है। उधर, भारत ने पाक से मांग की थी कि डिप्लोमैट्स को नेहल से मिलने दिया जाए। साथ ही उसकी सुरक्षा की मांग की थी। 

मीडियो रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंजीनियरिंग के बाद एमबीए तक पढ़ाई कर चुके अंसारी ने कबूल कर लिया है कि वह पाकिस्तान में जासूसी करने आया था। उसके सात फेसबुक अकाउंट और 30 ईमेल एड्रेस हैं। उसके पास से कुछ संवेदनशील दस्तावेज भी मिले थे।

इससे पहले पाकिस्तान ने स्वीकार किया था कि पेशे से इंजीनियर भारतीय नागरिक नेहाल हामिद अंसारी उसकी कैद में है। मुंबई का रहने वाला हामिद नवंबर 2012 में कथित रूप से मुश्किल में फंसी अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए पाकिस्तान में दाखिल हुआ था और तब से लापता था। कुछ दिनों पहले ही पाकिस्तान स्थित पेशावर हाई कोर्ट में हामिद की मां फौजिया ने एक अर्जी दायर कर अपने बेटे की तलाश करने की गुहार लगाई थी।

मुंबई के अंधेरी वेस्‍ट में रहने वाले हामिद नेहाल अंसारी 2012 में अपनी प्रेमिका से मिलने अफगानिस्तान सीमा से होते हुए पाकिस्‍तान में प्रवेश कर गया था। उसके गायब होने के बाद उसके माता-पिता ने अपने बेटे को ढूढ़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी, लेकिन वह नहीं मिला। मां फौजिया ने इस मुद्दे पर महाराष्ट्र के तत्कालीन सीएम पृथ्वीराज च्वहाण से भी मदद की गुहार लगाई थी। फिर उन्‍हें एक एक्टिविस्‍ट ग्रुप ने बताया है कि उनका बेटा पाक जेल में बंद है। इसके बाद उसके पिता नेहाल अंसारी ने कहा था कि यह हमारे लिए राहत की खबर है कि वो जिंदा है।

पाकिस्‍तान-भारत पीपुल्‍स फोरम फॉर पीस एंड डेमोक्रेसी ने इस बारे में कहा हामिद की मदद करने वालों को पाकिस्‍तान में हर बार निशाना बनाया गया है। हामिद के जिंदा होने की खबर के बाद अब उसके भारत लौटने का इंतजार कर रहे हैं। हामिद के पिता ने कहा कि हमने विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से मुलाकात की थी और उन्‍होंने सकारात्‍मकता दिखाई है। अब हमें उम्‍मीद है कि सरकार हमारी पूरी मदद करेगी। हामिद की मां ने कहा कि हमने पाकिस्तान के आर्मी चीफ राहिल शरीफ और पीएम नवाज शरीफ से गुहार लगाई है कि वे नेहल की सजा को माफ कराएं।