फ्रांस अटैक: फ्रांस में 3 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित, ये हैं UPDATE

नीस (15 जुलाई) : फ्रांस के लोग अपने नेशनल डे के जश्न मना रहे थे, तभी अचानक से भीड़ में एक ट्रक घुसा और लोगों को रौंदता चला गया। कुछ देर तक किसी को कुछ समझ नहीं आया लेकिन आस-पास पड़ी लाशों ने बयां कर दिया कि कुछ महीने के अंदर ही फ्रांस फिर आतंकी हमले का शिकार हो गया। 

जानिए हमले से जुड़ी बातें...

NiceAttack के बाद फ्रांस में 3 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित

- फ्रांस के नीस में हमला करने वाले ट्रक ड्राइवर की पहचान हुई

- फ्रांस के नीस में बासटील डे के जश्न के दौरान गुरुवार रात को एक शख्स विस्फोटकों से लदे ट्रक को भीड़ में ले जा घुसा। इस घटना में 84 लोगों की मौत हो गई। फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने इस ट्रक हमले को आतंकवादी हमला करार दिया है।

- नीस के महापौर क्रिस्टिन एस्ट्रोसी ने बताया कि बासटील डे के दौरान आतिशबाजी देखने जुटे लोगों की भारी भीड़ के बीच ट्रक चालक विस्फोटकों से भरा ट्रक भीड़ में लेकर घुस गया और दो किलोमीटर तक लोगों को कुचलता चला गया। हर पांच मीटर में शव पड़े दिखे।

- पुलिस ने ट्रक चालक को मार गिराया है। पुलिस को ट्रक से बंदूकें, विस्फोटक और ग्रेनेड मिले हैं। ट्रक चालक ट्यूनीशिया मूल का 31 वर्षीय शख्स बताया जा रहा है। ट्रक से फ्रांस-ट्यूनीशिया मूल के पहचान पत्र बरामद हुए हैं।

- रिपोर्टों के मुताबिक, ट्रक चालक ने भीड़ में ट्रक घुसाने से पहले पुलिस पर गोलियां भी चलाईं। घटनास्थल पर मौजूद लोगों द्वारा बनाई गई वीडियो में गोलियों की आवाजें भी सुनी जा सकती हैं। इस घटना में 150 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

- एएफपी के रिपोर्टर ने पूर्ण अराजकता के दृश्यों के बारे में बताया। उन्होंने कहा, हमने लोगों को मारे जाते और मलबे को हवा में उड़ते देखा। मुझे उड़ते मलबे से अपने आपको बचाना पड़ा।

- हादसे की चश्‍मदीद एक महिला ने बताया कि मैं कई और लोगों के साथ भागने में कामयाब रही। हम सभी एक होटल में भागे और कई लोगों के साथ टॉयलेट में छिपकर अपनी जान बचाई।

- फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने नीस में हुए हमले के बाद शुक्रवार को कहा कि देश में आपातकाल की अवधि को अतिरिक्त तीन महीनों के लिए बढ़ा दिया गया है। देश में आपातकाल की अवधि 26 जुलाई को समाप्त हो रही है।

- इस हमले से एक दिन पहले पेरिस में सैन्य समारोह आयोजित किया गया था जिसमें सैन्य बलों, टैंकों एवं लड़ाकू जेट विमानों ने शांज एलिसीज पर प्रदर्शन किया था और शानदार आतिशबाजी की गई थी। ओलांदे ने कहा, फ्रांस पर उसके उस राष्ट्रीय दिवस पर हमला किया गया... जो स्वतंत्रता का प्रतीक है।

- इस दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जारी बयान में कहा कि हम इस दुख की घड़ी में अपने पुराने साथी फ्रांस के साथ खड़े हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नीस में हुए आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए कहा कि भारत इस दुख की घड़ी में फ्रांस के साथ है।

- विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि फ्रांस के नीस शहर में हुए आतंकवादी हमले में कोई भारतीय हताहत नहीं हुआ है। पेरिस में भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर +33-1-40507070 शुरू किया है।

- ओलांद ने घोषणा की कि वह इस ताजा हमले के मद्देनजर फ्रांस में आपातकालीन स्थिति की अवधि तीन महीने और बढ़ाएंगे तथा सीरिया एवं इराक में जिहादियों के खिलाफ सरकारी कार्रवाई को तेज करेंगे। उन्होंने सैन्य प्रतिष्ठानों से भी देश की सुरक्षा सेवाओं को मदद देने की अपील की है।

- नीस में हुए आतंकी हमले के बाद भारत में खुफिया एजेंसियों अलर्ट जारी किया है।  - कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फ्रांस के नीस शहर में गुरुवार रात हुए आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए पीड़ितों के लिए संवेदना जताई और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की बात कही। सोनिया ने कहा कि इस घातक हमले से शांति और लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ गहरी असंवेदना का पता चलता है।