लुटेरी दुल्हन हुई गिरफ्तार, की थी 11 शादियां

नई दिल्ली ( 18 दिसंबर ): अमीर कुंवारें लड़कों से शादी कर उन्हें लूटने वाली दुल्हन को केरल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसको सेक्टर-120 स्थित आम्रपाली जोडिऐक सोसायटी से फेज थ्री पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया है। लोगों को ठगने वाली युवती के साथ उसकी बहन और जीजा को भी गिरफ्तार किया गया है। अभी तक की जांच में यह खुलासा हुआ है कि युवती इस तरीके से 11 बार शादी करके दूल्हों को लाखों रुपये का चूना लगा चुकी है।

फेज थ्री पुलिस के मुताबिक, आरोपी युवती का नाम मेघा भार्गव (26) है, वह सेक्टर-120 स्थित आम्रपाली जोडिऐक सोसायटी में के जेड टावर के फ्लैट नंबर 1104 में अपनी बहन प्राची भार्गव और जीजा देवेंद्र शर्मा के साथ रह रही थी। ये सभी मूलरूप से ग्वालियर (मध्यप्रदेश) के निवासी हैं। केरल में लाखों रुपये की ठगी के मामले में वहां की पुलिस इन्हें तलाश कर रही थी। इनकी लोकेशन मिलने पर केरल पुलिस एक सप्ताह से नोएडा में डेरा डाले हुए थी। फेज थ्री पुलिस के सहयोग से दबिश देकर तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। शुरुआती जांच में पता चला है कि अपनी बहन और जीजा की मदद से दुल्हन बनकर मेघा 11 परिवारों को चूना लगा चुकी है। केरल, मुंबई, पुणे, राजस्थान आदि में इन्होंने वारदात को अंजाम दिया है। करीब डेढ़ महीना पहले आरोपियों ने सोसायटी में किराये पर फ्लैट लिया था।

केरल पुलिस कोच्चि के एक मामले में इनकी तलाश कर रही थी। वहां के रहने वाले लॉरेन जोसटिस के साथ मेघा ने धोखे से शादी कर ली थी। शादी के एक हफ्ते के अंदर ही वह घर की तिजोरी से 15 लाख रुपये कैश और लाखों की जूलरी लेकर चंपत हो गई थी। लॉरेन ने वहां इसकी रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। जांच के दौरान केरल पुलिस को पता चला था कि आरोपी दुल्हन पहले भी 4 शादियां करके लूटपाट कर फरार हो गई थी। उसके बाद उसने 6 शादियां और की थी। गिरफ्तारी के बाद उसने पुलिस को बताया कि उसने पहले 3 शादियां की थी, लेकिन उसकी बनी नहीं और तलाक हो गया। इसके बाद चौथे से भी उसकी नहीं पटरी बैठी, तो उसे बिना तलाक दिए ही भाग निकली। अकेले केरल में ही उसने 5 शादियां की थीं।

एसपी सिटी दिनेश यादव ने बताया कि केरल पुलिस ने ठगी के इस मामले में नोएडा पुलिस से मदद मांगी थी। फेज थ्री पुलिस की मदद से केरल पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जांच में सामने आया है कि युवती ने ठगी के लिए 11 शादियां की हैं। आरोपियों को केरल पुलिस कानूनी प्रक्रिया पूरी कर अपने साथ ले गई है।