युवक के शरीर से अलग की गई 18 सेमी लंबी पूंछ, लोग अवतार समझकर पूजते रहे

नागपुर(5 अक्टूबर): सोमवार को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में एक 18 साल के युवक की 18 सेमी लंबी पूंछ निकालने के लिए ऑपरेशन किया गया। डॉक्टर इसे अब तक इंसानों में सबसे लंबी पूंछ होने का दावा कर रहे हैं। लोग इतने सालों तक पूंछ के कारण संबंधित व्यक्ति को अवतार समझकर पूजते रहे और मरीज इसके कारण दर्द से कराहता रहा। जब दर्द हद से ज्यादा बढ़ने लगा तो डॉक्टरों के पास पहुंचकर इसे निकलवाने का निर्णय लिया गया।

- मामला नरखेड़ स्थित अंबाडा देशमुख गांव के विवेक कुमार (परिवर्तित नाम) का है। वह वर्तमान में नागपुर के झिंगाबाई टॉकली क्षेत्र में अपने परिवार के साथ रहता है।

- जन्म के साथ ही इसे पूंछ थी। खबर आस-पास के क्षेत्र में फैल गई। लोग भगवान का अवतार समझने लगे और हर दिन उसे देखने के लिए जमावड़ा लगने लगा।

- इसके बाद परिजन नागपुर आकर रहने लगे। नागपुर में भी लोगों के आने का सिलसिला करीब 2 साल चलता रहा।

- आस्था से जुड़े लोगों ने परिवार को समझाया कि यह भगवान का स्वरूप है, इसलिए इसे निकलवाने चिकित्सक के पास न जाएं और ऑपरेशन न करवाएं।

- चूंकि दंपत्ति का यह पहला बच्चा था और वे अशिक्षित भी थे, इस कारण मजदूर दंपत्ति लोगों की बातों में आ गए।

- इधर, बच्चा बड़ा होता गया और उसकी समस्या बढ़ती गई। उसे उठने-बैठने में तकलीफ होने लगी। खासतौर से वह सीधा सो नहीं पा रहा था। उसे इसके कारण दर्द होने लगा।

- अंतत: परिजन उसे लेकर डॉक्टर के पास पहुंचे। सोमवार को न्यूरोसर्जन डॉ.प्रमोद गिरी, डॉ.दिविक मित्तल, डॉ.विवेक अग्रवाल, एनेस्थेटिक डॉ.लूलू वली ने सफल ऑपरेशन कर पूंछ निकाल दी।

- अब युवक पूरी तरह स्वस्थ्य है और आराम महसूस कर रहा है।