महाराष्ट्र में लोन वुल्फ अटैक का खतरा

मुंबई (25 जुलाई): महाराष्ट्र के परभणी में दस दिन के अंदर दूसरे आईएस संदिग्ध की गिरफ़्तारी के बाद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। कुछ दिन पहले परभणी से गिरफ्तार नासेर बीन चाऊस ने पूछताछ में एटीएस को बताया है कि वो और उसका सहयोगी शाहिद महाराष्ट्र के बड़ें शहरों में भीड़-भाड़ वाली जगहों पर लोन वुल्फ अटैक करने वाले थे।

एटीएस ने भी आईएस के ख़तरे को काफ़ी गंभीरता से लिया है और संदिग्धों की तलाश में जगह-जगह छापेमारी चल रही है। लोन वुल्फ को ISIS ने अपना हथियार बना लिया है।

क्या है लोन वुल्फ: - 90 के दशक में लोन वुल्फ शब्द का इस्तेमाल सरकार विरोधियों के लिए किया जाता था। - न्यूयॉर्क में ट्विन टावर्स पर हमले के बाद इसे आतंकवाद से जोड़ दिया गया। - लोन वुल्फ यानी कोई ऐसा युवक जो किसी धार्मिक आतंकवादी संगठन के विचारों से प्रभावित होकर किसी सरकार को सबक सिखाने के लिए अकेला ही निकल पड़े। - आतंकी किसी एक जीप या कार पर सवार हो किसी भीड़ को कुचलता हुआ निकल सकता है या फिर रसोई में काम आने वाले चाकू की मदद से ही किसी भीड़ वाले इलाके में एक साथ दसों लोगों का कत्ल कर सकता है।

कुछ दिन पहले लोन वुल्फ की तर्ज पर ही हमला फ्रांस में हुआ था, जहां एक आतंकवादी ने ट्रक से सैकड़ों लोगों को कुचल दिया।