हिंदुस्तान में ISIS का लोन वुल्फ

संकेत पाठक/इंद्रजीत सिंह, मुंबई (21 जुलाई): लोन वुल्फ की तर्ज पर हिंदुस्तान में भी हमला होने वाला था। लोन वुल्फ यानी अकेला आतंकवादी किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में था। ये खुलासा हुआ है ISIS ज्वाइन करने के लिए मालवणी से भागे युवकों से पूछताछ में, जिसका जिक्र एनआईए ने अपनी चार्जशीट में किया है।

''लोन वुल्फ'' आतंक की दुनिया में आज एक बार फिर ये नाम गूंजा है, लेकिन चिंता की बात है कि ये नाम हिंदुस्तान में गूंजा है। हमला करने का ISIS का नया प्लान है लोन वुल्फ यानी अकेला आतंकवादी बिना बंदूक, बिना गोला बारूद किसी भी बड़े हमले को अंजाम दे दे।

एनआईए ने मुंबई मालवणी से गायब हुए 4 संदिग्ध युवकों की कोर्ट में जो चार्जशीट फाईल की है, उससे काफी अहम खुलासा हुआ है। ये पता चला है कि मालवणी के ये युवक आईएसआईएस के इशारे पर लोन वुल्फ जैसा हमला करना चाहते थे। इनके निशाने पर आरएसआरएस के कुछ बड़े नेता थे। लोन वुल्फ की तर्ज पर ये युवक नेताओं की हत्या करने का प्लान बना रहे थे।

एनआईए के हत्थे चढ़े रिज़वान ने जांच एजेंसी के सामने ISIS के इंडिया प्लान का जो खुलासा किया वो चौंकाने वाला है। सूत्रों के मुताबिक NIA ने अपनी चार्जशीट के ज़रिये अदालत को बताया है कि ISIS का ये मुंबई मॉड्यूल इंटरनेशनल मीडिया में सुर्खियां बटोरना चाहता था। जिसके लिए वे बड़े हिन्दू नेताओं पर 'लोन वुल्फ' अटैक करने की फिराक में थे।

मालवणी के 4 नौजवान सीरिया जाने के लिए गायब हुए थे, लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उनके बारे मे पता चल गया। जिनमें से 3 युवक वापस आ गए, जबकि बताया जा रहा है कि एक सीरिया पहुंच चुका है। एनआईए की पूछताछ में इन्हीं में से एक रिजवान ने ये खुलासा किया कि ये अकेले ही किसी हमले को अंजाम देना चाहते थे।

लोन वुल्फ ISIS ने अपना हथियार बना लिया है। 90 के दशक में लोन वुल्फ शब्द का इस्तेमाल सरकार विरोधियों के लिए किया जाता था, लेकिन न्यूयॉर्क में ट्विन टावर्स पर हमले के बाद इसे आतंकवाद से जोड़ दिया गया। लोन वुल्फ यानी कोई ऐसा युवक जो किसी धार्मिक आतंकवादी संगठन के विचारों से प्रभावित होकर किसी सरकार को सबक सिखाने के लिए अकेला ही निकल पड़े। वह किसी एक जीप या कार पर सवार हो किसी भीड़ को कुचलता हुआ निकल सकता है या फिर रसोई में काम आने वाले चाकू की मदद से ही किसी भीड़ वाले इलाके में एक साथ दसों लोगों का कत्ल कर सकता है।

कुछ दिन पहले लोन वुल्फ की तर्ज पर ही हमला फ्रांस में हुआ था, जहां एक आतंकवादी ने ट्रक से सैकड़ों लोगों को कुचल दिया। लेकिन शुक्र है हिंदुस्तान में ऐसा हमला होने से बच गया।