लंदन धमाका: क्या था आतंकियों का मकसद

नई दिल्ली (15 सितंबर): लंदन के मेट्रो में हुए बम धमाके के बाद एक बार फिर सवाल खड़े हो गए है कि आईएस के खात्मे के बाद भी इस तरह की घटना को क्यों और कौन अंजाम दे रहा है। हालांकि इस घमाके में किसी की मौत नहीं हुई, लेकिन कई लोग गंभीर रूप से झुलस गए थे।

इस धमाके का पीछे आतंकवादी का मकसद किसी की जान लेना नहीं था, बल्कि ये डर फैलाना का जरिया था। इस तरह की हरकत से वह देश में अव्यवस्था फैलाने का काम करना चाहते थे, ताकि देश या शहर की बुनियाद हिलाई जा सके। ऐसी साजिशें लगातार पेचीदा होती गईं और अपने टारगेट को लेकर पहले से ज्यादा स्पष्ट। ये तरीका अल-कायदा और इस्लामिक स्टेट जैसे चरमपंथी संगठन अपनाते रहे हैं।

जब तक इस तरह के हमले को अंजाम न दे दिया जाए, इसके बारे में पहले से पता लगाना बहुत मुश्किल होता है। इस धमाके के लिए इम्प्रूवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस यानी आईईडी का इस्तेमाल किया गया है।