लंदन हमला: चश्मदीद ने बयां किया पूरा हाल


नई दिल्ली(23 मार्च): ब्रिटिश संसद के बाहर हुए आतंकी हमले में पांच लोगों की मौत हो गयी है और 40 जख्मी हो गए हैं। बुधवार देर रात जब यह हमला हुआ तब कई लोग पार्लियामेंट के आसपास थे। कुछ वेस्टमिन्स्टर ब्रिज को पार कर रहे थे। पहले तो लोगों ने समझा कि यह एक्सीडेंट है।


- एक चश्मदीद बेरनाटेत केरिंगन ने बताया कि मैं अपनी टूरिस्ट बस से गुजर रहा था। लगा किसी का एक्सीडेंट हो गया, लेकिन जैसे-जैसे आगे हमारी बस आगे बढ़ रही थी। नजारा बदल रहा था। लोग ब्रिज पर गिरे हुए थे। वे जख्मी थे। फिर अचानक चारों तरफ सिक्युरिटी फोर्सेस की एक्टिविटीज बढ़ गईं। लगा मामला सीरियस है।


-बता दें हमलावर ने पहले संसद से थोड़ी ही दूर वेस्टमिंस्टर पुल पर पैदल चल रहे लोगों को कार से कुचलना शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस पर हमला किया।


- बेरनाटेत केरिंगन ने बताया- "लोग इधर-उधर भाग रहे थे। मैंने रोड पर करीब 10 लोगों को गिरे देखा था। मैं किसी का फेस ठीक से नहीं देख पाया था। लेकिन कोई भी हिलडुल नहीं रहा था। एक शख्स को सिर पर काफी चोट लगी थी। ब्लड भी निकल रहा था।"


- डेली मेल के जर्नलिस्ट क्यू लेट्स ने बताया कि मैंने हमलावर को पुलिस पर चाकू से अटैक करते देखा। बाद में वह ओपन गेट की तरफ भागा। तभी पुलिसवाला जमीन पर गिर गया। हमलावर हाउस ऑफ कामंस एंट्रेस की तरफ भागा। इस गेट का इस्तेमाल सांसद आने-जाने के लिए करते हैं। तभी सिक्युरिटी पर्सनल ने उसे गोली मार दी।


- कई लोगों ने बताया कि काले रंग की कार तेजी से वेस्टमिन्स्टर ब्रिज पर पार्लियामेंट की तरफ दौड़ रही थी।


- रग्बी प्लेयर रॉब लायन ने बताया कि मैं ब्रिज पर टहल रहा था। मैंने तभी तेज आवाज सुनी। एक कार तेजी से टकराई। एक और आईविटनेस ने बताया कि मैंने गोली चलने की आवाज सुनी। मैं फौरन मैं रोड के दूसरी भागा और छिप गया। मैंने देखा कई लोग जख्मी हुए हैं।