सोनिया गांधी का लोकसभा में मोदी सरकार पर वार, कहा- रेलवे के निजीकरण से हजारों लोग हो जाएंगे बेरोजगार

Sonia Gandhi

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (2 जुलाई): यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने आज लोकसभा में मोदी सरकार पर हमला किया है। अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली का मुद्दा उठाते हुए सोनिया गांधी ने रेलवे के कारखाने के निजीकरण पर सवाल उठाए। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया ने भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को भी याद किया। उन्होंने सरकार पर कुछ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगाया।  पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि रायबरेली की कोच फैक्ट्री का कंपनीकरण किया जा रहा है जो कि निजीकरण की शुरूआत है। उन्होंने कहा यह देश की अमूल्य संपत्ति को कौड़ियों के दाम निजी हाथों के हवाले करने की पहली प्रक्रिया है और इससे हजारों लोग बेरोजगार होंगे।

सोनिया गांधी ने आगे कहा कि सरकार ने इस प्रयोग के लिए रायबरेसी की मॉर्डन कोच फैक्ट्री को चुना है, इस मनमोहन सरकार ने देश के घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया था। इसमें बुनियादी क्षमता से ज्यादा उत्पादन हो रहा है और ये रेलवे का सबसे आधुनिक रेलवे कारखाना है। यह सबसे अच्छी इकाइयों में जानी जाती है। रायबरेली से कांग्रेस सांसद ने कहा कि इसमें 2 हजार मजदूरों और कर्मचारियों की मेहनत लगी है लेकिन अब उन परिवारों को भविष्य खतरे में है। सरकार क्यों ऐसी इकाई का कंपनीकरण करना चाहती है। सरकार ने रेल बंजट अलग से पेश करने की पुरानी परंपरा को क्यों खत्म कर दिया।

साथ ही सोनिया गांधी ने कहा कि सरकार ने इसके लिए किसी को विश्वास में नहीं लिया है और सरकार को याद दिलाना चाहती हूं कि सार्वजनिक क्षेत्रों का बुनियादी मकसद लोक कल्याण है। पंडित नेहरू ने सार्वजनिक उद्योगों को आधुनिक भारत का मंदिर कहा था और आज इस तरह के मंदिर खतरे में हैं। आज कुछ खास पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए ऐसे उद्योगों को संकट में डाल दिया गया है। एचएएल, एमटीएनएल के साथ क्या हो रहा है यह किसी से छुपा नहीं है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की सभी कंपनियों की रक्षा की जाए।