करोड़ो-करोड़ कर्मचारियों को चेक या खाते में ट्रांसफर करनी होगी सैलरी, बिल पास

नई दिल्ली ( 7 फरवरी): मंगलवार को लोकसभा में पेमेंट संशोधन विधेयक 2017 पास हो गया। बिल के पास होने के बाद फैक्ट्री मालिकों के ये जरुरी होगा कि वो अपने कर्मचारी और मजदूरों को कैशलेस यानि चेक या फिर कर्मचारियों के बैंक खाते में सीधे सैलरी ट्रांस्फर करें।

-पहले कंपनियों फैक्ट्रियों को कैशलेस सैलेरी देने के लिए कर्मचारियों से लिखित में लेना पड़ता था, पर अब कैशलेस सैलेरी देने के लिए लिखित लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

-नगद सैलेरी भुगतान बगैर कर्मचारी से लिखित में लिया बिना किया जा सकेगा।

-केंद्र और राज्य सरकारें अब ये तय कर सकेंगी कि किस प्रकार की इंडस्ट्री को अपने कर्मचारियों को केवल कैशलेस ही वेतन भुगतान करना होगा।

-वेतन के भुगतान में पारदर्शिता आएगी और न्यूनतम वेतन का भुगतान के नियम का पालन किया जा सकेगा।

-केंद्र सरकार रेलवे, माइंस, आयलफील्ड, एयर ट्रांसपोर्ट में इस नियम को लागू कर सकेगी।

-कैबिनेट ने बिल से जुड़े अध्याधेश को मंजूरी दी थी।