बीजेपी के कटाक्ष पर शशि थरूर का पलटवार, बोले- बीमार पड़ने पर होती है 'खिचड़ी' की जरूरत

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (6 मई): कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने बीजेपी की 'खिचड़ी सरकार' के कटाक्ष पर पलटवार किया है। शशि थरूर ने कहा कि बीमार पड़ने पर खिचड़ी की ही जरूरत होती है। थरूर ने कहा कि देश बीजेपी को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाकर देश की ''राजनीतिक बीमारी का ''अच्छी तरह से इलाज करेगा।पीटीआई को दिए इंटरव्यू में शशि थरूर ने कहा कि 23 मई को लोकसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद कांग्रेस के नेतृत्व में नई गठबंधन सरकार बनेगी। मोदी की 'महामिलावट टिप्पणी पर, कांग्रेसी नेता ने कहा कि बीजेपी को जब भी 'बैकफुट पर डाला गया है, वह इस तरह की बातों पर उतर आती है फिर चाहे वह लोगों पर ''राष्ट्र विरोधी का लेबल चिपकाने के लिए ''टुकड़े टुकड़े गैंग का जुमला हो या उनके नजरिये से सहमति नहीं रखने वालों को पाकिस्तान भेजने की बात।पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी को गुमराह करने की राजनीति करने तथा विभाजनकारी एवं अंधराष्ट्रवादी बातें करने में महारथ हासिल है और उन्हें सत्ता के अपने विनाशकारी रिकार्ड को देखते हुए ये सब करना पड़ रहा है। राष्ट्रवाद को लेकर भाजपा के विमर्श पर उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी खुद सेना का राजनीतिकरण करने या खुद को देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के एकमात्र सक्षम संरक्षक के रूप में पेश करते रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा यह धारणा पाले है कि भारतीय मतदाता अच्छे दिन का वादा भूल जाएंगे कि ये दिन कभी नहीं आए। थरूर ने कहा कि जब भाजपा समर्थक 'महामिलावट' की बात करते हैं या कहते हैं कि दूसरी गठबंधन सरकार 'खिचड़ी' होगी तो मैं जवाब देना चाहूंगा कि जब आप बीमार होते हैं तभी आपको खिचड़ी की जरूरत पड़ती है।