वोटों की गिनती से पहले सियासी गोलबंदी तेज, सोनिया गांधी ने आज बुलाई कांग्रेस के बड़े नेताओं की बैठक

Image Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 मई): लोकसभा चुनाव के नतीजे से एक दिन पहले सियासी गोलबंदी तेज हो गई है। बीती रात जहां दिल्ली में NDA की हुई डिनर डिप्लोमेसी हुई, वहीं आज यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है। इस बैठक में कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता, महासचिव और प्रभारी मौजूद रहेंगे। बैठक में यूपीए के सहयोगी दलों के साथ बैठक को लेकर चर्चा की जाएगी। बैठक दोपहर 12 बजे 10 जनपथ पर होगी।

आपको बता दें कि एग्जिट पोल के नतीजों ने एक तरफ जहां विपक्षी दलों की नींदे उड़ा दी हैं, वहीं बीजेपी और उसके सहयोगी दल आत्मविश्वास से भरे नजर आ रहे हैं। हालांकि लोकसभा चुनावों के नतीजे 23 मई को आने हैं, लेकिन मोदी सरकार की वापसी की सुगबुगाहट ने एक बार फिर विपक्ष को एक होने की कोशिश करने के लिए मजबूर कर दिया है। यही वजह है कि इन दिनों आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू काफी सक्रिय नजर आ रहे हैं और एक-एक कर सभी विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं।

विपक्ष को एकजुट करने के प्रयास के तहत आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलुगूदेशम पार्टी के नेता एन चंद्रबाबू  नायडू ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी Banerjee) के साथ उनके कोलकाता स्थित आवास पर बैठक की और त्रिशंकु परिणाम की स्थिति में केंद्र में गैर-भाजपाई सरकार बनाने की संभावना पर उनसे चर्चा की। नायडू ने ‘महागठबंधन' की भविष्य की रणनीति पर बनर्जी के साथ 45 मिनट तक बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के समर्थन से क्षेत्रीय दलों के साथ गैर-भाजपाई सरकार बनाने की संभावना पर गुफ्तगू की। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक 'बैठक में फैसला किया गया कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद त्रिशंकु परिणाम की स्थिति में महागठबंधन के अन्य भागीदारों के साथ विस्तार से चर्चा की जाएगी।' सूत्र ने कहा कि ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे पर भी फैसला 23 मई के बाद लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी सोमवार को बनर्जी से फोन पर बात की और ‘महागठबंधन' की रणनीति पर चर्चा की।