थप्पड़ कांड के बाद केजरीवाल की सुरक्षा में बड़ा बदलाव, अब कोई नहीं पहुंच पाएंगा करीब

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (6 मई): दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर पिछले शनिवार यानी 4 मई को हुए हमले की बाद उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई है। शनिवार को मोती नगर इलाके में सीएम को मारे गए थप्पड़ के बाद दिल्ली पुलिस ने उनकी सुरक्षा में बड़े स्तर पर बदलाव किए हैं, जिसमें एक परिवर्तन यह भी है कि सीएम के पास जाने से लोगों को रोका जाए। केजरीवाल की सुरक्षा में ताजा बदलाव के बाद अब किसी पब्लिक मीटिंग या फिर रोड शो के दौरान कोई भी व्यक्ति माला पहनाकर या फिर उनसे हाथ मिलाकर उनका स्वागत नहीं कर पाएगा। अगर कोई ऐसा करना चाहेगा तो उसे पहले सीएम के सुरक्षा घेरे से दो-चार होना पड़ेगा। और सुरक्षा जांच के बाद ही कोई भी व्यक्ति अरविंद केजरीवाल से मिल पाएगा।शनिवार को अपने ऊपर हुए ताजा हमले के बाद केजरीवाल ने पुलिस के सुरक्षा के तरीके को अपनी रजामंदी दे दी है। जानकारी के मुताबिक सीएम केजरीवाल से पहले भी कई बार कहा गया था कि उनपर खतरा है। कोई भी ऊपर से या नीचे से उनपर किसी भी रूप में हमला कर सकता है, इसलिए वह अपने साथ सिक्योरिटी कवर रखें, लेकिन हर बार वह मना कर देते थे। शुक्रवार को भी उन्होंने एक इंस्पेक्टर को अपने पास आने से मना कर दिया था। सिक्यॉरिटी यूनिट में इसकी डीडी एंट्री भी की गई थी। इससे पहले भी कई मौकों पर उन्हें लिखित में सुरक्षा घेरे में ही रहने की सलाह दी गई थी, लेकिन हर बार वह इससे इनकार करते रहे थे।आपको बता दें कि इससे पहले पहले सीएम केजरीवाल पुलिस सुरक्षा को अपने से दूर रखने का प्रयास करते थे। सीएम की नई सुरक्षा रणनीति के तहत चुनावी माहौल में अगर वह किसी रोड शो के दौरान खुली जीप में हैं, तो उनकी गाड़ी में दिल्ली पुलिस सिक्यॉरिटी यूनिट के दो जवान पीछे और दो जवान आगे गाड़ी में रहेंगे। चार जवान गाड़ी के पीछे, छह जवान गाड़ी के दोनों साइड और चार जवान गाड़ी के आगे-आगे घेरा बनाकर चलेंगे। इनके अलावा, एक या दो कमांडो भी वर्दी में तैनात किए गए हैं।गौरतलब है कि दिल्ली मोती नगर इलाके में शनिवार को अरविंद केजरीवाल खुली जीप में रोड शो कर रहे थे तभी एक शख्स ने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया। ये पहला मामला नहीं था जब केजरीवाल पर हमला हुआ हो। इससे पहले 4 अप्रैल, 2014 को भी रोड शो के दौरान एक शख्स ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा था।