शाह पर सस्पेंस, शपथ ग्रहण से पहले मोदी मंत्रिमंडल का फॉर्मूला तय !

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (29 मई): नई सरकार में मंत्रिमंडल के गठन को लेकर पीएम मोदी और अमित शाह के बीच कल करीब 5 घंटे तक मैराथन बैठक चली। सूत्रों से पता चला है कि 5 घंटे की माथापच्ची के बाद मोदी के साथ शपथ लेने वाले मंत्रियों के नाम पर मुहर लग चुकी है। बताया जा रहा है कि 60-65 मंत्री मोदी के साथ शपथ ले सकते हैं। सूत्रों से ये भी पता चला है कि मोदी कैबिनेट में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह शामिल नहीं होंगे।

मंगलवार की शाम प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष के बीच पांच घंटे तक बैठक चली। इसमें मापदंड भी तय हुए और भावी मंत्रियों के नाम भी। भाजपा के साथ-साथ सहयोगी दलों की ओर से आए नामों पर भी चर्चा हुई और जीती गई सीटों के आधार पर मंत्रियों की संख्या का फॉर्मूला भी तय हुआ। सूत्रों के अनुसार, नए मंत्रिमंडल में अधिकतर पुराने चेहरे शामिल रह सकते हैं, लेकिन सबसे बड़ी चर्चा यह है कि खुद भाजपा अध्यक्ष शाह मंत्रिमंडल में शामिल होंगे या नहीं। अमित शाह के भी मंत्रिमंडिल में शामिल होने के लेकर चर्चा है। लेकिन इसको लेकर लोगों की अलग-अलग राय है। कुछ ही महीने बाद महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में बीजेपी में कुछ लोग चाह रहे हैं कि अमित शाह ही अध्यक्ष बने रहें। ऐसे में हो सकता है कि शाह मंत्रिमंडल में शामिल न हों।

सूत्रों के मुताबिक, मोदी कैबिनेट में तेलंगाना और पश्चिम बंगाल से जीते सांसदों को ज्यादा तवज्जो मिल सकती है। इसके अलावा प्रमुख चेहरों के अलावा कई नए चेहरों को टीम मोदी में शामिल किया जा सकता है। पीएम नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल के शपथग्रहण समारोह के लिए देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को न्योता भेजा गया है। गुरुवार की शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस समारोह में बिम्सटेक देशों (भारत के अलावा नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका, थाईलैंड व म्यांमार) को भी आमंत्रित किया गया है। सभी ने इसमें भाग लेने की पुष्टि कर दी है।