मोदी के नामांकन में दिखेगी एनडीए की ताकत, उद्धव, नीतीश, पासवान और प्रकाश सिंह बादल होंगे साथ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 अप्रैल): प्रधानमंत्री मोदी आज वाराणसी से अपना नामांकन पर्चा दाखिल करने जा रहे है। प्रधानमंत्री मोदी के नामांकन दाखिल करने के दौरान वाराणसी में एनडीए की ताकत भी देखने को मिलेगी। प्रधानमंत्री मोदी के नामांकन कार्यक्रम में बीजेपी और एनडीए के तमाम दिग्गज नेता शामिल होंगे। पीएम मोदी के नामांकन के दौरान नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, सुखबीर सिंह बादल व एनडीए के दिग्गज मौजूद रहेंगे। इनके अलावा पीएम मोदी के नामांकन के अवसर पर अन्नाद्रमुक, अपना दल एवं उत्तर पूर्व लोकतांत्रिक गठबंधन के नेता भी मौजूद रहेंगे। बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, असम सीएम सर्वानंद सोनेवाल,  गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, हेमा मालिनी, जयाप्रदा, मनोज तिवारी, रवि किशन, दिनेश लाल यादव निरहुआ शामिल होंगे।

नामांकन पर्चा भरने से पहले प्रधानमंत्री मोदी शहर कोतवाल बाबा कालभैरव के दर्शन करेंगे। इससे पहले मोदी बूथ प्रमुख और पार्टी कार्यकर्ताओं को सुबह 9.30 बजे संबोधित करेंगे। फिर वह काल भैरव मंदिर में पूजा-अर्चना करने जाएंगे। इसके बाद सुबह करीब 11.30 बजे नामांकन दाखिल करेंगे। इससे पहले गुरुवार को प्रधानमंत्री ने वाराणसी में मेगा रोड शो किया। बीएचयू से निकले रोड शो में लाखों की संख्या में लोग शामिल हुए। पूरा बनारस मोदीमय दिखा। हर हर मोदी, घर-घर मोदी के खूब नारे लगे। सड़क के दोनों ओर तो लोग थे ही छतों पर से भी लोग मोदी पर फूल बरसा रहे थे। उनका रोड शो मुस्लिम मुहल्लों से भी गुजरा। मोदी ने गंगा आरती में भाग लिया। इसके बाद पीएम ने लोगों को संबोधित किया।

गुरुवार को गंगा आरती में शामिल होने के बाद आयोजित जनसभा में मोदी ने लोगों से पूछा कि आपकी अनुमति हो तो नामांकन कर दूं। जनता ने मोदी-मोदी के नारे लगाकर उनका उत्साहवर्धन किया। इसके बाद मोदी ने कहा कि वह नामांकन करने के पश्चात जीतने के बाद लोगों का आशीर्वाद लेने आएंगे। इसका आशय यह निकाला जा रहा है कि वह नामांकन के बाद प्रचार करने के लिए बनारस में नहीं आएंगे। 2014 की अपेक्षा इस बार मोदी की स्थिति मजबूत मानी जा रही है क्योंकि पिछली बार आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल उनके सामने थे लेकिन इस बार कोई वैसा उम्मीदवार मैदान में दिखाई नहीं दे रहा।