माया अखिलेश का साथ नहीं छोड़ेंगे अजीत सिंह, कांग्रेस से गठबंधन की खबरों को नकारा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 फरवरी): पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पकड़ रखने वाले अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के साथ ही मिलकर चुनाव लड़ेगी। इससे पहले खबरें आ रही थी कि राष्ट्रीय लोकदल मायावती और अखिलेश यादव को झटका देकर उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सकती है। राष्ट्रीय लोकदल को लेकर अफवाहों के गरम बाजार के बीच पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने साथ किया है कि उनकी पार्टी एसपी और बीजेपी गठबंधन के साथ ही चुनाव लड़ेगी। जयंत चौधरी ने साफ कर दिया गया है कि वह समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के साथ ही चलेंगे।

आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने एसपी-बीएसपी गठबंधन से अलग होने और कांग्रेस के साथ जाने की खबरों को अफवाह करारा दिया है। जयंत चौधरी ने साफ किया है कि 'सर्वविदित है कि राष्ट्रीय लोकदल समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन का हिस्सा है। राष्ट्रीय लोकदल के सभी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह जी ने पहले ही निर्देशित किया है कि वह इस गठबंधन के लिए जनता के बीच जाकर समर्थन मांगे।  हमारा मत साफ है, देश को प्रगतिशील बनाने के लिए लोग लोकदल भविष्य में भी समाजवादी पार्टी व बहुजन समाज पार्टी के साथ चलेगा।'

जयंत चौधरी ने साफ किया है कि राष्ट्रीय लोकदल पार्टी द्वारा जारी पत्र में कहा गया कि  राष्ट्रीय लोकदल भाजपा सरकार के किसान, युवा, दलित विरोधी नीतियों के विरोध के लिए प्रभावी विपक्षी एकता के पक्ष में लगातार काम कर रहा है। एसपी-बीएसपी के साथ गठबंधन करके ही जनता की उम्मीदों के अनुरूप मजबूत राजनीतिक विकल्प तैयार किया जा सकता है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक समाजवादी पार्टी RLD को तीन सीट देने के लिए तैयार है। लेकिन आरएलडी चार सीट की मांग कर रही है। इसी कड़ी में लखनऊ में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के बीच मुलाकात हुई। बताया जा रहा है कि गठबंधन आरएलडी को मुजफ्फरनगर और बागपत सीट के साथ-साथ मथुरा सीट भी देने के लिए राजी हो गया है। बताया जा रहा है कि मुजफ्फरनगर से अजीत सिंह, बागपत से जयंत चौधरी चुनाव लड़ेंगे।