NDA को बहुमत: PM मोदी के लिए 'मास्टस्ट्रोक्स' साबित हुए ये 10 वादे

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 मई): रूझानों के बाद बीजेपी ने जश्न का माहौल है। रुझानों में ही बीजेपी नेतृत्व वाले गठबंधन एनडीए को बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है। रुझानों में बीजेपी और उसके सहयोगियों को जबरदस्त बहुमत मिला रहा है। एनडीए इस बार 2014 से भी बड़ा रिकॉर्ड बनाता दिख रहा है। मोदी लहर में बीजेपी गठबंधन को 336 सीटें मिली थीं, जबकि इस बार अब तक आए रुझनों में बीजेपी गठबंधन यह आकंड़ा पार गई है और 338 तक पहुंच गया है। वहीं, बीजेपी अपने दम पर भी पुराने रिकॉर्ड से आगे निकल गई है। फिलहाल बीजेपी 286 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि 2014 में उसे 282 सीटें मिली थीं। सभी 542 सीटों पर रुझान आ गए हैं। इनमें से एनडीए 338 और यूपीए 103 सीटों पर आगे चल रहा है। जबकि अन्य 101 पर आगे है। बीजेपी अपने दम पर 287 सीटों पर आगे चलते हुए स्पष्ट बहुमत पाती दिखाई दे रही है।

आज पता चल जाएगा कि किसे देश ने अपनी अगली सरकार चलाने के लिए चुना है और किसके सितारे गर्दिश में हैं। क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सत्ता में वापसी होगी, जैसा कि सभी एग्जिट पोल ने इशारा किया है या फिर विपक्ष के दावे सही साबित होंगे। देश की 17वीं लोकसभा के लिए हुए चुनावों में मतगणना के बाद इस सवाल का जवाब मिल जाएगा।हालांकि 19 मई को लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण की वोटिंग के बाद जारी एग्जिट पोल्स में मोदी सरकार की दोबारा सत्ता में वापसी के संकेत मिल रहे हैं। न्यूज 24 टुडेज चाणक्य का पोल 350 सीटों के साथ मोदी की वापसी दिखा रहा है। साथ बात ये है कि इनमें अकेले बीजेपी को 300 सीटें मिलने की बात कही जा रही है। आपको याद होगा कि पिछले लोकसभा चुनाव में भी हमने सबसे सटीक आंकलन किया था। इस बार के पोल कितने सही साबित होंगे, ये तो आज रिजल्ट आने के बाद ही पता चलेगा। लेकिन सारे पोल एक बात साफ साफ कह रहे हैं फिर एक बार, मोदी सरकार।

अगर आज ये अनुमान सच्चाई में बदलती है तो साफ ही देश की जनता ने चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की ओर से किए गए वादों पर एतवार किया। बीजेपी ने अपने मेनिफेस्टो 'संकल्प पत्र' यानी चुनावी वादों की पोटली के जरिए किसानों, व्यापारियों, मध्यम वर्ग को साधने की कोशिश। वहीं राम मंदिर, कश्मीर में धारा 370-35A के संकल्प के जरिए धर्म और राष्ट्रवाद के मुद्दे पर आगे बढ़ने के संकेत दिए।

पीएम मोदी के 11 सबसे बड़े चुनावी वादे...

1- छोटे किसानों के लिए पेंशन-देश के सभी किसानों को किसान सम्मान निधि का लाभ दिया जाएगा- छोटे और सीमांत किसानों के लिए भी पेंशन की सुविधा शुरू की जाएगी-  ब्याजमुक्त किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा- किसान क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाला एक लाख रुपये तक का 5 साल तक ब्याज रहित लोन- किसानों को 6 हजार रुपये का लाभ मिलेगा- सभी छोटे और सीमांत किसानों को 60 साल के बाद पेंशन की सुविधा- 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का संकल्प

2- छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन- 60 साल से ज्यादा उम्र वाले छोटे दुकानदारों और व्यापारियों के लिए पेंशन योजना- किसान कार्ड की तर्ज पर व्यापारी कार्ड लॉन्च करने का वादा- व्यापारियों और सरकार के बीच बेहतर तालमेल के लिए राष्ट्रीय व्यापार आयोग का गठन- देश के छोटे दुकानदारों को 60 साल के बाद पेंशन की सुविधा- गांव, गरीब और किसानों पर सरकार का खास फोकस

3- हर परिवार को घर देने का वादा- प्रत्येक परिवार के लिए पक्का मकान- अधिक से अधिक ग्रामीण परिवारों को एलपीजी गैस सिलिंडर- पीएम मोदी का नारा- 2047 का भारत बनाने के लिए हमें आज से ही काम करना होगा

4- आयुष्मान भारत- आयुष्मान भारत योजना के तहत के डेढ़ लाख हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोले जाएंगे- पीएम ने कहा कि आज के युवा ही देश का भविष्य तय करेंगे- आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हम आज एक बेहतर देश बनाने के सपने को लेकर चल रहे हैं

5- शिक्षा क्षेत्र में बदलाव का वादा- मैंनेजमेंट, इंजीनियरिंग और लॉ कॉलेज में सीटों की संख्या में बढ़ोतरी- राष्ट्रीय शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान की स्थापना- इन संस्थानों में चार साल का विशेष कोर्स- स्कूलों के शिक्षकों में गुणवत्ता के मानत तय होगा- 2024 तक केंद्रीय विद्यालय और नवोदय जैसे 200 और स्कूल खुलेंगे- केंद्रीय शिक्षण संस्थानों में कम से कम 50 फीसदी तक सीट बढ़ाया जाएगा

6- मंदिर पर संकल्प- बीजेपी ने राम मंदिर पर अपने रुख को दोहराया- सरकार की ओर से मंदिर के जल्द निर्माण के लिए संविधान के दायरे में सभी संभावनाओं को तलाशा जाएगा  - सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में जल्द से जल्द मंदिर निर्माण का प्रयास होगा- फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट में है  

7- राष्ट्र सुरक्षा पर वादा- राष्ट्रवाद को लेकर प्रतिबद्धता- आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति- जबतक आतंकवाद समाप्त नहीं होगा यह जीरो टॉलरेंस रहेगा- यूनिफॉर्म सिविल कोर्ड को लागू करेंगे

8- जम्मू-कश्मीर में धारा 35A और 370 पर वादा- जम्मू-कश्मीर से धारा 35A हटाने की कोशिश- धारा 35 A को जम्मू-कश्मीर के गैर स्थाई निवासियों और महिलाओं के लिए भेदभावपूर्ण- धारा 370 पर भी दृष्टिकोण को दोहराया गया9- समान नागरिक संहिता- समान नागरिक संहिता को लागू किया जाएगा- इसे लैंगिक समानता से जोड़ा जाएगा- ट्रांसजेंडर्स को समाज की मुख्य धारा में लाने और सशक्तीकरण का वादा- पार्टी सर्वश्रेष्ठ परंपराओं से प्रेरित समान नागरिक संहिता बनाने के लिए कटिबद्ध10- तीन तलाक पर रोक- तीन तलाक के विरूद्ध कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने का प्रयास किया जाएगा-  मोदी सरकार तीन तलाक मसले को लेकर पिछले दिनों भी बेहद सक्रिय दिखी- संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण देने की बात11- एक साथ चुनाव का संकल्प- देश में एक साथ चुनाव कराने पर विचार- इस पर पार्टियों के साथ बातचीत करने की कोशिश जारी रखेगी

आपको बता दें कि बीजेपी के घोषणापत्र ('संकल्प पत्र') में  2022 के लिए बीजेपी ने अपने 75 संकल्पों को भी शामिल किया है। घोषणापत्र में मोदी सरकार की पिछले 5 साल की उपलब्धियों के आधार पर 2022 के लिए 75 टारगेट तय किए गए हैं।