जानिए, मोदी मंत्रिमंडल में किस राज्य से कितने और कौन बने मंत्री

 न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (31 मई): गुरुवार को धूमधड़ाके के साथ नरेन्द्र मोदी मंत्रिमंडल ने शपथ ली है। मोदी के साथ कुल 58 मंत्रियों ने मंत्री पद की शपथ ली। टीम मोदी में सभी राज्यों को प्रतिनिधित्व देने की कोशिश की गई है। आइए आप को राज्यवार बताते हैं कि मोदी की नई टीम में किस राज्य की कितनी भागीदारी है।

उत्तर प्रदेश- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंत्रिमंडल में सबसे ज्यादा हिस्सेदारी, बीजेपी को सबसे ज्यादा 62 सीटें देने वाले उत्तरप्रदेश की रही। यूपी से कुल 8 मंत्रियों को मौका मिला है। कैबिनेट मंत्री के रूप में यूपी से राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, महेंद्र नाथ पांडेय, मुख्तार अब्बास नकवी के मौका मिला है, तो संतोष कुमार गंगवार, साध्वी निरंजन ज्योति, संजीव बालियान,  जनरल वीके सिंह को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई है। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी यूपी के वाराणसी से सांसद है।

बिहार- एनडीए को 39 सीटें देने वाली बिहार से 6 मंत्री बने हैं। राम विलास पासवान, रविशंकर प्रसाद, गिरिराज सिंह को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। जबकी राजकुमार सिंह को स्वत्रंत प्रभार का राज्यमंत्री तो अश्विनी चौबे और नित्यानंद राय राज्यमंत्री बने हैं।

महाराष्ट्र- महाराष्ट्र से 7 नेताओं को मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिली है। कैबिनेट मंत्री के रूप में  नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, प्रकाश जावडेकर और अरविंद सावंत को मौका मिला है, तो दलित नेता रामदास आठवले, महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष राव साहब दानवे और संजय शामराव को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है।

मध्यप्रदेश- देश का दिल कहा जाने वाले मध्यप्रदेश को 4 मंत्री मिले हैं। नरेंद्र सिंह तोमर और थावर चंद गहलोत को कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई है। प्रहलाद पटेल स्वत्रंत प्रभार का राज्यमंत्री तो फग्गन सिंह कुलस्ते को राज्यमंत्री के रूप में मिला है।

राजस्थान- राजस्थान से तीन मंत्रियों को मोदी की टीम में जगह मिली है। गजेंद्र सिंह शेखावत को कैबिनेट, तो अर्जुनराम मेघवाल और कैलाश चौधरी को राज्यमंत्री बनाया गया है।

गुजरात- नरेन्द्र मोदी ने अपने गृहराज्य गुजरात से तीन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कैबिनेट मंत्री बने हैं , राज्यसभा सांसद मनसुख मांडविया को राज्यमंत्री स्वत्रंत प्रभार बनाया गया है, तो  पुरुषोत्तम रुपाला को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई है।

कर्नाटक- बीजेपी के लिए दक्षिण का द्वार माने जाने वाले कर्नाटक को तीन मंत्रियों की सौगात मिली है। सदानंद गौड़ा और प्रहलाद जोशी कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। वहीं सुरेश अंगाडी राज्यमंत्री बने हैं।

पंजाब- पंजाब से भी तीन नेताओं को मोदी ने कैबिनेट में जगह दी है। हरसिमरत कौर बादल को एक बार फिर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है, तो हरदीप सिंह पुरी अपना राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का दर्जा बचाए रखने में कामयाब रहे हैं। राज्यमंत्री के रूप में सोम प्रकाश ने शपथ ली है।

हरियाणा- हरियाणा को भी कैबिनेट में तीन बर्थ का अलॉटमेंट किया गया है। राव इंद्रजीत सिंह को राज्यमंत्री का स्वतंत्र प्रभार दिया गया है। कृष्णपाल गुर्जर और रतनलाल कटारिया को राज्यमंत्री बनाया गया है।

पश्चिम बंगाल- पश्चिम बंगाल से दो-दो मंत्रियों को मोदी कैबिनेट में जगह दी गई है। बाबुल सुप्रियो और देबश्री चौधरी को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई है।

ओडिशा- ओडिशा से दो मंत्रियों को मोदी कैबिनेट में जगह दी गई है। ओडिशा से धर्मेंद्र प्रधान कैबिनेट मंत्री बने हैं, तो प्रताप चंद्र सारंगी को राज्यमंत्री बनाया है।

तमिलानाडु से निर्मला सीतारमण, उत्तराखंड से रमेश पोखरियाल निशंक, झारखंड से अर्जुन मुंडा और दिल्ली से डॉ हर्षवर्धन को कैबिनेट रैंक दी गई है ।

गोवा से श्रीपद नाइक, जम्मू कश्मीर से जितेंद्र सिंह, अरुणाचल प्रदेश से किरन रिजिजू को स्वतंत्र प्रभार का राज्यमंत्री बनाया गया है।

तेलंगाना से जी किशन रेड्डी, हिमाचल से अनुराग ठाकुर, केरल से वी मुरलीधरन , छत्तीसगढ़ से रेणुका सिंह और असम से रामेश्वर तेली ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

इसके अलावा ब्यूरोक्रेट से पहली बार कैबिनेट मंत्री बने एस जयशंकर फिलहाल किसी सदन के सदस्य नहीं है। जबकी एनडीए की अहम सहयोगी जेडीयू ने अपने किसी भी सांसद को मंत्रिमंडल में शामिल करने से इनकार कर दिया है।