प्रचंड जीत के बाद 30 मई को दूसरी बार पीएम पद की शपथ ले सकते हैं मोदी

Image Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 मई): प्रचंड जीत के बाद नरेंद्र मोदी दूसरी बार 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। देश में मोदी लहर फिर से देखने को मिली। गुरुवार को सामने आए लोकसभा नतीजों में बीजेपी ने प्रचंड बहुमत के साथ केंद्र की सत्ता में वापसी की है। एनडीए की इस ऐतिहासिक जीत के बाद नरेंद्र मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। पीएम मोदी की अगुवाई में बीजेपी और एनडीए ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। इससे पहले 25 मई को बीजेपी के सभी जीते हुए सांसदों को दिल्ली बुलाया गया है। पीएम मोदी और अध्यक्ष अमित शाह 26 मई को सभी सांसदों से मुलाकात करेंगे। वहीं खबरें आ रही है कि पीएम मोदी 28 मई को अपनी संसदीय लोकसभा सीट वाराणसी का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी यहां बाबा विश्वना का दर्शन करेंगे और गांगा आरती में भी शामिल होंगे। इसके साथ ही वो 29 मई को गुजरात का भी दौरा कर सकते हैं।

इस प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज सुबह लालकृष्ण आडवाणी से मिलने पहुंचे और उससे आशिर्वाद लिया। वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात के बाद बोले पीएम मोदी- बीजेपी की आज की सफलता इसलिए संभव हो पाई है क्योंकि आडवाणी जी जैसे महान लोगों ने पार्टी को बनाने के लिए दशकों मेहनत की है। लालकृष्ण आडवाणी से मिलने के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी और अमित शाह पार्टी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी से मिलने पहुंचे। मुरली मनोहर जोशी से मिलने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया- डॉ. मुरली मनोहर जोशी एक विद्वान और बुद्धिजीवी हैं। भारतीय शिक्षा को बेहतर बनाने की दिशा में उनका योगदान उल्लेखनीय है। उन्होंने हमेशा बीजेपी को मजबूत करने का काम किया और मेरे सहित कई कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन किया। आज सुबह उनसे मुलाकात की और उनका आशीर्वाद लिया। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद बोले मुरली मनोहर जोशी- 'देश के सामने एक मजबूत सरकार बनाने की आवश्यकता पूरा देश महसूस कर रहा था। बीजेपी पार्टी और मोदी के अलावा कोई विकल्प नहीं था। विपक्ष अपनी मनचाही कहानी लोगों को सुना नहीं पाया। मैं जो करता रहा हूं, वही करता रहूंगा। पार्टी क्या करना चाहती है, वह पार्टी अध्यक्ष तय करेंगे।'मोदी और शाह आशीर्वाद लेने आए थे। यह फलदायी पेड़ जनता के लिए स्वादिष्ट हो ऐसी कामना करते हैं।

 गौरतलब है कि देशभर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  की 'प्रचंड लहर' पर सवार भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवाद, हिंदू गौरव और 'नये भारत' के मुद्दों पर लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करके लगातार दूसरी बार केंद्र में सरकार बनाने जा रही है। भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर इतिहास रचते हुए अपने दम पर नरेंद्र मोदी की अगुवाई में 300 का आंकड़ा पार कर गई और लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचंड जीत हासिल की। एनडीए 350 के आंकड़े के पास है, तो वहीं कांग्रेस फिर 50 के आंकड़े तक ही पहुंच पाई। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र ने अपनी वाराणसी सीट से रिकॉर्ड मतों से ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। प्रधानमंत्री ने इस सीट से जीत का अपना पुराना रिकार्ड तोड़ दिया है। पीएम मोदी को वाराणसी में 4 लाख 79 हजार 505 मतों के अंतर से जीत मिली है। मोदी ने साल 2014 में यहां से लोकसभा चुनाव 3,71,784 मतों से जीता था। मोदी को दूसरी बार इस सीट से चुनने वाली जनता ने सबसे अधिक 63.62 प्रतिशत मत दिए। मतगणना के बाद मोदी ने कुल 6,74,664 मत हासिल किए। वहीं, उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी (सपा-बसपा-रालोद) गठबंधन प्रत्याशी शालिनी यादव को 1,95,153 मत हासिल हुए। कांग्रेस के अजय राय वाराणसी में तीसरे स्थान पर रहे। उन्हें 1,52,548 मत प्राप्त हुए। वाराणसी सीट पर मोदी के खड़े होने के कारण यहां प्रत्याशियों की बाढ़ आ गई थी। इस सीट से इस साल कुल 27 प्रत्याशियों ने चुनाव में अपनी किस्मत आजमाई।