केजरीवाल को थप्पड़ मारने पर सियासत गर्म, आप ने मोदी-शाह पर लगाए आरोप तो बीजेपी ने बताया चुनावी स्टंट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (5 मई): दिल्ली के मोती नगर में रोड शो के दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल पर थप्पड़ मारे जाने पर सियासत तेज हो गई है। आम आदमी पार्टी ने इस मामले में पीएम मोदी और अमित शाह पर हमला बोला है। हालांकि बीजेपी ने इसे चुनावी स्टंट करार दिया है। फिलहाल सुरेश नाम के आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। सुरेश दिल्ली के कैलाश पार्क का रहने वाला है। रोड शो के दौरान इस थप्पड़कांड से हंगामा मच गया। केजरीवाल भौचक्के रह गए। पार्टी प्रत्याशी बृजेश गोयल हक्का बक्का रह गए। आम आदमी पार्टी के नेताओं की टोली कुछ समझ पाती इससे पहले हमलवार जीप से कूदकर भागने लगा। लेकिन आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इस शख्स को दबोच लिया। गुस्से में आए कार्यकर्ताओं ने इस शख्स की पिटाई भी की और फिर पुलिस के हवाले कर दिया। आम आदमी पार्टी ने थप्पड़ कांड के पीछे बीजेपी का हाथ बताया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्विट कर लिखा कि क्या मोदी और अमित शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं ? 5 साल सारी ताक़त लगाकर जिसका मनोबल नहीं तोड़ सके, चुनाव में नहीं हरा सके..अब उसे रास्ते से इस तरह हटाना चाहते हो कायरो ! ये केजरीवाल ही तुम्हारा काल है।

लेकिन बीजेपी ने इस हमले को भी केजरीवाल का स्टंट करार दिया। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा ये आम आदमी पार्टी का पब्लिसिटी स्टंट है। मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर हमले को लेकर संदेह जताते हुए कहा कि हर चुनाव में उन पर हमला होता है। उन्होंने दावा किया कि मुख्यमंत्री ने ही इस हमले की साजिश रची होगी। दिल्ली में उत्तर-पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के लोकसभा उम्मीदवार तिवारी ने कहा कि बीजेपी दिल्ली में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा चाहती है और यहां के लोगों के लिए स्वच्छ पेयजल, उचित शिक्षा और नई बसें चाहती है।

वहीं इस घटनापर अरविंद केजरीवाल के पूर्व सहयोगी कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर चौंकाने वाली टिप्‍पणी की है। उन्‍होंने लिखा,'सारी दिल्‍ली को पता था कि केजरीवाल खुद को पिटवाएंगे। रोड शो फ्लॉप,जनता गायब और नौटंकी शुरू। जनता केजरीवाल को ईवीएम का बटन दबा कर पीटेगी- उंगली की ताकत से. केजरीवाल तब तक खुद को खुद ही पिटवाते रहेंगे।

आपको बता दें कि ये कोई पहला मौका नहीं है जब  केजरीवाल पर हमला हुआ है। केजरीवाल पर हुए इन हमलों ने पुलिस की भूमिका भी सवालों के घेरे में ला दिया है। जब दिल्ली के मुख्यमंत्री को सरेआम कोई ऐसे थप्पड़ मार सकता है तो फिर कुछ भी हो सकता है । केजरीवाल की सुरक्षा में ये तस्वीर बड़ी चूक है।