हिमाचल बीजेपी चीफ पर चुनाव आयोग ने लगाया 48 घंटे का बैन, राहुल गांधी को कहे थे अपशब्द

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अप्रैल): दूसरे चरण के चुनाव से पहले चुनाव आयोग 4 बड़े नेताओं पर उनकी बदजुबानी के चलते पहले ही बैन लगा चुका है लेकिन इस बीच एक और नेता पर EC यानी चुनाव आयोग का चाबुक चला है। चुनाव आयोग ने हिमाचल प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती पर 48 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया है। चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। जिसकी कांग्रेस ने आयोग से शिकायत की थी। आयोग ने सत्ती को दो नोटिस जारी किया था।

इससे पहले सतपाल सत्ती को हिमाचल प्रदेश के एक स्थानीय कांग्रेस नेता विनय शर्मा ने धमकी दी थी। विनय शर्मा ने सत्ती की जीभ काट के लाने वाले को 10 लाख देने की बात कही थी। बता दें कि बीजेपी ने इसकी शिकायत पुलिस से की थी और इस मामले में जांच जारी है। चुनाव आयोग के बैन के बाद बीजेपी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती किसी भी सार्वजनिक बैठक में शामिल नहीं हो सकते हैं, ना ही वोट मांगने के लिए सार्वजनिक जुलूस और रोड शो नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा वह सार्वजनिक रैलियों में शामिल नहीं हो सकते, साथ हीफेसबुक, ट्विटर और यू ट्यूब यानि सोशल मीडिया पर कोई राजनीतिक पोस्ट नहीं कर सकते हैं। बैन के दौरान सत्ती इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के साथ रेडियो पर इंटरव्यू नहीं दे सकते हैं।

चुनाव आयोग द्वारा बैन लगाए जाने से पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने फिर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि राहुल ने पिछड़े वर्ग की छवि को खराब करने की कोशिश की है। राहुल ही नहीं, बल्कि कांग्रेस के नेता और उनके सहयोगी भी यह कह रहे हैं कि समाज में सभी मोदी चोर हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सभी सीमाएं लांघते हुए समाज के पिछड़े समुदाय को अपशब्द कहे हैं। सत्ती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना साकार होता देख कांग्रेस बौखलाहट में अनाप-शनाप बयानबाजी कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए उनकी भाषा का स्तर भी गिरता जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार पर बीते पांच वर्षों में भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है।