लोक सभा -विधान सभा के एक साथ चुनाव के मुद्दे पर बहस शुरु

नई दिल्ली (7 सितम्बर): जनता की गाढी कमाई की बर्बादी को रोकने और प्रशासनिक कार्य में आने वाली बाधाओं को रोकने के लिए लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराये जाने की बहस जोर पकड़ रही है। लोक सभा और विधानसभा के चुनावों को एक साथ कराये जाने का फार्मूला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुझाया है। माय गॉव डॉट इन पर लोक सभा और विधान सभा के साथ-साथ चुनावों फायदे और नुकसान के साथ माय गॉव डॉट इन पर पांच सवाल डाले गये हैं।  जिन पर सांसदों, विधायको संविधान विद्, शिक्षकों, प्रशासनिक अधिकारियो, सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले लोगों और विचारकों सुझाव भी मांगे हैं। हाल ही में दो टीवी चैनलों को दिये साक्षात्कार में प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की तो राष्ट्रपति प्रणब मुकर्जी ने भी एक समारोह में प्रधानमंत्री मोदी के विचार का समर्थन किया है। प्रणब मुकर्जी ने तो यहां तक कहा कि सभी राजनीतिक दलों को सामुहिक रूप से इस मुद्दे पर सोच-विचार करना चाहिए। उन्होंने निर्वाचन आयोग से भी लोक सभा और विधानसभा चुनावों को एक साथ कराये जाने के लिए प्रयास शुरु करने का आह्वान किया था।