जम्मू-कश्मीर में आतंकी संगठनों में भर्ती बढ़ी: सुरक्षा एजेंसियां

नई दिल्ली (3 जून): रमजान के पवित्र महीने को देखते हुए कश्मीर में एकतरफा सीजफायर से आतंकवाद विरोधी अभियान एक तरह थमा हुआ है। इस सबके बीच एक बेहद ही चौकाने वाली खबर सामने आई है। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक आतंकी संगठनों में स्थानीय युवकों की भर्तियां बढ़ गईं हैं। बताया जा रहा है कि अब तक 80 से अधिक स्थानीय युवक आतंकी संगठनों में शामिल हो चुके हैं।  सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के अनुसार साउथ कश्मीर में आतंकवाद से ज्यादा प्रभावित शोपियां और पुलवामा जिले से ज्यादा युवा ISIS-कश्मीर और असंर-गजवात-उल-हिंद जैसे आतंकी संगठनों में शामिल हो रहे हैं। खबरों के मुताबिक आतंकी संगठनों में शामिल होने वाले ज्यादातर छात्र हैं।आईपीएस अफसर इनामुलहक का भाई और एक युनानी डॉक्टर भी शोपियां जिले से गायब है। ऐसा माना जा रहा है कि यह भी आतंकी संगठनों में शामिल हो चुका है। अधिकारियों के मुताबिक अप्रैल के अंत तक यह आंकड़ा 45 तक पहुंच चुका था। बहराल, आतंकी संगठनों का गुट बढ़ना कहीं न कहीं कश्मीर की सुरक्षा को लेकर परेशानी का सबब बन सकता है।