बाबरी मामला: आडवाणी, जोशी, उमा के खिलाफ 26 मई को तय होंगे आरोप

नई दिल्ली(25 मई): बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, कैबिनेट मंत्री उमा भारती, सांसद विनय कटियार, साध्वी रितंभरा और विष्णु हरि डालमिया के खिलाफ लखनऊ की विशेष सीबीआई अदालत 26 मई को आरोप तय करेगी।

- उच्चतम न्यायालय ने 19 अप्रैल को सीबीआई अदालत से कहा था कि वह मामले में उक्त आरोपियों के खिलाफ षडयंत्र के आरोप भी जोड़े. विशेष अदालत ने महंत नृत्य गोपाल दास, महंत राम विलास वेदान्ती, बैकुण्ठ लाल शर्मा उर्फ प्रेमजी, चंपत राय बंसल, धर्मदास और डॉ. सतीश प्रधान के खिलाफ आरोप तय करने की तारीख 25 मई के लिए तय की थी।

- इससे पहले प्रधान बुधवार को अदालत के समक्ष पेश हुए और उन्हें जमानत मिल गई. अयोध्या में छह दिसंबर 1992 को विवादित ढांचा ढहाए जाने के बाद दो एफआईआर दर्ज की गई थीं। एक एफआईआर थाना प्रभारी प्रियवंद नाथ शुक्ला की ओर से राम जन्मभूमि थाने में दर्ज कराई गई थी। दूसरी एफआईआर गंगा प्रसाद तिवारी ने दर्ज कराई।