शराब की नकद बिक्री बंद सिर्फ डेबिट और क्रेडिट कार्ड से ही खरीदी...?

नई दिल्ली (9 सितंबर): अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ (कैट) ने कहा है कि शराब खरीदने के लिए डिजिटल भुगतान अनिवार्य होना चाहिए। कैट ने कहा कि अभी शराब खरीदारी ज़्यादातर नकद में होती है और डिजिटल लेनदेन से कालेधन में कमी आएगी। बतौर कैट, 2015 में लगभग 1.5 लाख करोड़ रुपये की शराब बिकी और यह सालाना 30% की दर से बढ़ रही है।