दिग्गज फुटबॉलर लियोनेल मेसी ने लिया संन्यास, पढ़ें उनके रोचक रिकॉर्ड्स

हॉस्टन (27 जून): दुनिया के सवर्श्रष्ठ फुटबॉलरों में से एक लियोनेल मैसी ने इंटरनेशनल फुटबॉल से संन्यास की घोषणा कर दी है। उन्होंने यह घोषणा कोपा अमेरिका के फाइनल मुकाबले में चिली से मिली हार के बाद की है। मेसी क्लब मैचों में खेलते रहेंगे। कोपा अमेरिका में चिली ने अर्जेंटिना को 4-2 से हराया। इस मैच में मैसी ने पेनल्टी शूटआउट मिस किया था।

बता दें कि रियो ओलिंपिक के लिए घोषित अर्जेंटीना की फुटबॉल टीम में स्टार खिलाड़ी और अपने देश के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाले लियोनल मैसी का नाम शामिल नहीं था।  

मैसी के बारे में कुछ रोचक जानकारियां > सबसे ज्यादा पांच बार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर चुने गए मैसी दो देशों (अर्जेंटीना व स्पेन) के पासपोर्टधारी है। मैसी के नाम कई कीर्तिमान दर्ज है।   > मैसी जब 11 वर्ष के थे तब पता चला था कि उनमें ग्रोथ हार्मोन की कमी हैं। > मैसी और क्रांतिकारी नेता ची गुएवेरा दोनों का जन्म अर्जेंटीना में रोजारियो में हुआ था। > उनका फुटबॉल का पहला अनुबंध पेपर नेपकीन पर लिखा गया था। एफसी बार्सिलोना के चीफ चार्ल्स अर्जेंटीना के इस खिलाड़ी से इतने प्रभावित हुए थे कि कागज नहीं होने की स्थिति में उन्होंने पेपर नेपकीन पर ही मैसी को अनु‍बंधित कर लिया था। > मैसी दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी है जिन्होंने पांच बार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर को दी जाने वाली बेलोन डी'ओर ट्रॉफी जीती। उन्होंने 2009, 2010, 2011, 2012 और 2015 में इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया। > मैसी दो देशों (अर्जेंटीना और स्पेन) के पासपोर्टधारी है। अर्जेंटीना में जन्मे इस खिलाड़ी को स्पेन ने 2005 में नागरिकता प्रदान की। > बार्सिलोना क्लब से 2008 में रोनाल्डिन्हो की रवानगी के बाद मैसी 10 नंबर की जर्सी पहनने लगे। > मैसी यूनिसेफ के गुडविल एम्बेसडर है। उनका 'लियो मैसी फाउंडेशन' भी कई चैरिटी की मदद करता है। > मैसी 25 वर्ष की उम्र में स्पेनिश ला लीगा में सबसे कम उम्र में 200 गोल दागने वाले फुटबॉलर बने। > उनके नाम ला लीगा इतिहास में सबसे ज्यादा गोल (312) दागने का रिकॉर्ड है। > वे बार्सिलोना क्लब के इतिहास में सबसे ज्यादा गोल (453) दागने वाले खिलाड़ी हैं। > मैसी का नाम एक वर्ष में सबसे ज्यादा गोल दागने (2012 में 91 गोल) की वजह से गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्‍स में दर्ज है।