स्कूल ने 8वीं क्लास के छात्र को थमाया 1 करोड़ का लीगल नोटिस

आगरा (11 मई): आगरा के सेंट फ्रांसिस स्कूल ने 8वीं क्लास के छात्र को एक करोड़ रूपए का लीगल नोटिस दे दिया है। इसके बाद छात्रा के पिता ने कहा कि एक करोड़ रुपये के लिए वह मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री से आर्थिक सहायता की मांग करेंगे। मदद नहीं मिली तो भीख मांगेंगे।   दरअसल, न्यू आगरा के रहने वाले सगीर अहमद ने बेटे मोहम्मद शहजान को कॉन्वेंट सेंट फ्रांसिस स्कूल में एडमिशन करवाया।  शहजान ने यहां केजी से लेकर 8वीं क्लास तक की पढ़ाई की। लेकिन 8वीं क्लास में रिज़ल्ट के आधार पर शहजान को अगली क्लास में कक्षोन्नत करने से स्कूल मैनेजमेंट ने मना कर दिया। स्कूल प्रबंधन का यह कदम स्टूडेंट के परिजनों को नागवार गुज़रा। स्टूडेंट की ओर से वकील ने स्कूल को लीगल नोटिस भेजकर उसे फेल करने का कारण पूछा। साथ ही पैसे मांगे जाने का भी आरोप लगाया।

स्टूडेंट के पिता सगीर अहमद ने शिक्षा अधिकारियों को यह दलील दी कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत आठवीं तक के स्टूडेंट को फेल नहीं किया जा सकता। बावजूद इसके उनके बेटे को फेल कर दिया गया। परिजनों की शिकायत और गुहार के बाद शिक्षा विभाग ने सेंट फ्रांसिस स्कूल से 11 अप्रैल 2016 को इस सिलसिले में ब्यौरा मांगा। जवाब न मिलने पर 20 अप्रैल को रिमाइंडर भी भेजा।

उधर, स्कूल प्रबंधन ने एडवोकेट के माध्यम से जवाब में एक करोड़ रूपए का लीगल नोटिस छात्र को ही दे दिया। इस नोटिस में कहा गया कि छात्र अवयस्क है, उसकी ओर से लीगल नोटिस नहीं दिया जा सकता है। सेंट फ्रांसिस स्कूल की साख है, यह ख्याति प्राप्त संस्था है। इस पर नोटिस के माध्यम से गलत आरोप लगाए गए हैं।