राष्ट्रपति से मिलने का कोई फायदा नहीं, जनता के पास जाएंगे: येचुरी

नई दिल्ली(16 दिसंबर): नोटबंदी पर सरकार के खिलाफ विपक्ष के एकजुटता में दरार पैदा होती दिख रही है। शुक्रवार को भी संसद में गतिरोध के बाद विपक्ष ने राष्ट्रपति से मुलाकात की। इस मुलाकात में 4 प्रमुख पार्टियां शामिल ही नहीं हुईं। बीएसपी, एनसीपी, एसपी और वामदल के नेता राष्ट्रपति से मिलने नहीं पहुंचे। राष्ट्रपति से मिलने पहुंचे विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने किया।

राष्ट्रपति से ना मिलने पर वाम नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि मुलाकात का कोई फायदा नहीं था इसलिए हम नहीं गए। येचूरी ने कहा कि हम जनता के पास जायेंगे। 27,28,29 को देश भर की पार्टियां जनता के पास जायेंगी। येचुरी ने 31 से पहले तक पुराने नोट को लीगल आप्शन के लिए चलने दिया जाय। जब तक पुराने नोटबंदी वाले नोट के बराबर पैसा बाजार में न आ जाये।