डांसर बनना चाहता था संदिग्ध आतंकियों का सरगना

नई दिल्ली (5 मई): दिल्ली  में सीरियल बम धमाकों की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार जैश-ए-मोहम्मद के संदिग्ध आतंकियों का सरगना साजिद एक डांसर बनना चाहता था। उसने दो प्रमुख डांस शोज के ऑडिशन भी दिये थे लेकिन जब इन शोज में इसका चयन नहीं हुआ तो उसके बाद वह जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ गया और उसका फेसबुक पेज फॉलो करने लगा।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक साजिद और शाकिर ने पाकिस्तान किया था। इसके बाद 6 महीने से इन पर नजर रखी जा रही थी। दिल्ली के भजनपुरा इलाके में रहने वाले साजिद को व्हाट्सएप पर भी निर्देश मिले थे। उसने जैश से जुडे़ वीडियो डाउनलोड किये थे। संदिग्ध आतंकी पिछले 15 दिनों से आइईडी बनाना सीख रहे थे। इसके लिए इन्होंने इंटरनेट का पूरा इस्तेमाल किया था। उसे देखते हुए पहले डमी आइईडी तैयार करने का अभ्यास किया। फिर असली आइईडी बनाने लगे तो मॉडयूल का सरगना साजिद घायल हो गया। अचानक बम फट गया और उसके बायें हाथ की हथेली फट गयी।

इस बात की जानकारी मिलते ही हरकत में आई पुलिस ने उसे धर दबोचा।पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे चढ़े जैश-ए-मोहम्मद के संदिग्ध आतंकियों के इस मॉड्यूल के निशाने पर राजधानी के तीन नामी शॉपिंग मॉल, चार भीड़भाड़ वाले बाजार व यमुनापार के दो अति व्यस्ततम मेट्रो स्टेशन थे।