सुप्रीम कोर्ट ने जेठमलानी से पूछा, आप रिटायर कब हो रहे हैं

नई दिल्ली(23 अगस्त): देश के जाने-माने वकील राम जेठमलानी की आयु 90 वर्ष से अधिक है, लेकिन उनकी पेशेवर सक्रियता जस की तस बरकरार है। यहां तक कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर की अध्यक्षता वाली बेंच ने भी उनकी सक्रियता पर हैरानी जताते हुए एक मामले की सुनवाई के दौरान टिप्पणी करते हुए कहा कि आखिर वह रिटायर कब हो रहे हैं?

- इस पर बिना किसी लागलपेट के जेठमलानी ने जवाब दिया, 'आखिर माई लॉर्ड यह क्यों पूछ रहे हैं कि मैं कब मरने वाला हूं।'

- एमएम कश्यप से 2006 में धोखाधड़ी के एक मामले में शामिल होने के आरोप में सुप्रीम कोर्ट परिसर में स्थित उनका चेंबर छीन लिया गया था। लेकिन, इसके बाद उन्हें यह कहते हुए चेंबर से काम करने की अनुमति दी गई कि यदि उन्हें दोषी पाया जाता है तो उन्हें इसे खाली करना होगा।

- कश्यप ने इस मामले में शिकायतकर्ता को कुछ राशि का भुगतान कर समझौता कर लिया था। लेकिन, इससे पहले 2014 में मामले की सुनवाई करते हुए तत्कालीन चीफ जस्टिस आरएम लोढ़ा ने कश्यप को सुप्रीम कोर्ट परिसर में स्थित चेंबर खाली करने को कहा था।