"देश विरोधी नारेबाजी करने वालों को दस बार पीटेंगे"

नई दिल्ली (20 फरवरी): पटियाला हाउस कोर्ट में छात्र कन्हैया और मीडिया के लोगों से मारपीट के आरोपी वकील विक्रम सिंह चौहान ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। विक्रम ने कहा है कि देश विरोधी नारेबाजी करने वालों को हम एक बार नहीं, दस बार पीटेंगे।

वकीलों का आरोप है कि मीडिया ने मामले को सही ढंग से नहीं दिखाया। विक्रम ने दावा है कि उसने जर्नलिस्ट को इसलिए मारा, क्योंकि वह नेशनलिज्म के मुद्दे पर उकसाने वाली बातें कह रहा था। मंगलवार को शकरपुर इलाके में चौहान का सम्मान किया गया था। पुलिस के मुताबिक चौहान, ओम प्रकाश और यशपाल सिंह को पूछताछ के लिए तीसरी बार नोटिस भेजा जा चुका है। उनका कहना है कि अगर ये तीनों हाजिर नहीं होते तो उन्हें गिरफ्तार ही करना पड़ेगा।

गौरतलब है कि 16 फरवरी को चौहान ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि उन्हें गुंडा बना दिया गया और जो असल में देश के दुश्मन हैं उन्हें हीरो बना दिया गया है।

चौहान की फेसबुक पोस्ट: "मुझे देश का सबसे बड़ा गुंडा बना दिया गया। वहीं, जो भारत मां के खिलाफ हैं, वो हीरो बन गए। अगर लेफ्टिस्ट गुंडों का विरोध करते हुए भारत मां जिंदाबाद कहना गुंडागर्दी है तो मैं गुंडा हूं। मैं परवाह नहीं करता कि कौन क्या कह रहा है। हम कल फिर मिल रहे हैं उनकी साजिश का खुलासा करने के लिए। एंटी नेशनल एक्टिविटीज में शामिल लोगों को सबक सिखाने वाले वकीलों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है। मीडिया का एक ग्रुप देश विरोधी लोगों के हाथों बिक चुका है। हम दिखाना चाहते हैं कि देश भर के वकील कैसे उन्हें पाठ पढ़ाते हैं।"