सर्जिकल स्ट्राइक ने तोड़ी लश्कर की कमर, सेना के अटैक में मारे गए 20 आतंकी

नई दिल्ली(10 अक्टूबर): पीओके में हुए सर्जिकल स्ट्राइक से सबसे ज्यादा नुकसान लश्करे-तैयबा को हुआ था। इंडियन आर्मी की इस कार्रवाई में लश्कर के करीब 20 आतंकी मारे गए थे। रेडियो इंटरसेप्ट्स की असेसमेंट रिपोर्ट्स से यह खुलासा हुआ है। लश्कर एक प्रतिबंधित पाकिस्तान सपोर्टेड आतंकवादी संगठन है। 

- रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये एसेसमेंट रिपोर्ट्स इंडियन आर्मी की फील्ड यूनिट्स के पास मौजूद है। 

- इसमें पाकिस्तान आर्मी और कई आतंकी संगठनों के बीच रेडियो पर हुई बातचीत रिकॉर्ड है। 

-  आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान पीओके में आतंकियों के कई लॉन्चिंग पैड तबाह कर दिए थे। इसमें लश्कर का दुदनियाल लॉन्चिंग पैड भी था। 

- पीओके में दुदनियाल लॉन्चिंग पैड नॉर्थ कश्मीर के कुपवाड़ा सेक्टर के विपरीत दिशा में था।

- बता दें कि पीओके में हुए सर्जिकल स्ट्राइक में कुल 38 आतंकी मारे गए थे।

उरी हमले में लश्कर का हाथ

- 18 सितंबर को उड़ी में हुए आतंकी हमले के बाद आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक की प्लानिंग की थी।

- एनआईए की जांच में यह सामने आया है कि उड़ी हमले में लश्कर का ही हाथ था।

केल और दुदनियाल में 4 लॉन्च पैड तबाह हुए थे

- एक वेबसाइट के हवाले से सोर्सेज ने  बताया- 'आर्मी डिवीजन की 5 टीमों को केल और दुदनियाल में आतंकियों के लॉन्चिंग पैड्स तबाह करने का जिम्मा दिया गया था।'

- 'अच्छी तरह विचार करने के बाद यह ऑपरेशन 28 और 29 सितंबर की दरमियानी रात शुरू किया गया था।'

- 'इस दौरान इंडियन आर्मी ने LoC पारकर 4 लॉन्चिंग पैड नष्ट किए थे। ये लॉन्चिंग पैड एक पाकिस्तानी पोस्ट की देखरेख में चलाए जा रहे थे। यह पोस्ट LoC से 700 मीटर की दूरी पर है।'

फायरिंग होने पर PAK पोस्ट की तरफ भागे आतंकी

- सोर्सेज के मुताबिक, 'आतंकियों को इंडियन आर्मी की तरफ से किसी कार्रवाई की उम्मीद नहीं थी। सर्जिकल स्ट्राइक से वह सरप्राइज रह गए।' 

- असेसमेंट रिपोर्ट्स के मुताबिक, 'जो आतंकी मारे गए, उनमें से ज्यादातर लश्करे-तैयबा के थे। आर्मी जब आतंकियों पर फायरिंग कर रही थी तो उन्हें पाकिस्तानी पोस्ट की तरफ भागते देखा गया।'

PAK आर्मी के व्हीकल डेड बॉडीज को ले गए, नीलम घाटी में दफना दिया

- सोर्सेज ने बताया- 'सफल स्ट्राइक के बाद रेडियो मॉनिटरिंग की गई। इसी दौरान पाकिस्तान आर्मी के वायरलेस मैसेज इंटरसेप्ट किए गए।' 

- 'इनमें लश्कर के कम से कम 10 आतंकियों के मारे जाने की बात कही गई है।' 

- 'ऑपरेशन खत्म होने के बाद पाकिस्तान आर्मी का पीओके में मूवमेंट बढ़ गया। उनके व्हीकल्स सभी डेड बॉडीज को लेकर चले गए।' 

- 'रेडियो इंटरसेप्ट्स से यह बात भी सामने आई है कि सभी डेड बॉडीज को नीलम घाटी में दफना दिया गया।'

- 'इसी तरह पुंछ के विपरीत दिशा में स्थित बलनोई एरिया में भी लॉन्चिंग पैड नष्ट किए गए, जहां लश्कर के 9 आतंकी मारे गए।' 

- सोर्सेज ने यह भी बताया है कि पाक की 8 नॉर्दर्न लाइट इन्फैन्ट्री के दो जवान भी इस सेक्टर में मारे गए।