अमरनाथ यात्रियों पर हमले के पीछे लश्कर, तीन आतंकी गिरफ्तार

नई दिल्ली ( 6 अगस्त ): जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पिछले महीने अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी मुनीर खान ने रविवार को जनाकारी दी कि गिरफ्तार आतंकियों से पूछताछ के बाद पूरी साजिश का खुलासा हुआ। हमले के पीछे पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों का हाथ था। उन्होंने बताया कि हमले में शामिल सभी आतंकियों की पहचान कर ली गई है और जल्द ही मास्टरमाइंड समेत बाकी आतंकियों को भी पकड़ लिया जाएगा।

आईजी खान ने बताया कि अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले का मास्टरमाइंड अबू इस्लाइल था। इस्माइल और बाकी 3 आतंकी अभी फरार हैं। गिरफ्तार किए गए आतंकी हमले की साजिश में शामिल थे और हमलावरों की मदद की थी। आईजी ने कहा कि अमरनाथ आतंकी हमले को लश्कर के 3 आतंकियों ने अंजाम दिया था। इन आतंकियों में 2 पाकिस्तानी और एक कश्मीरी था। खान ने बताया कि हमले को पूरी प्लानिंग के साथ अंजाम दिया था।

मुनीर खान ने बताया कि आतंकियों के निशाने पर सीआरपीएफ और अमरनाथ यात्रियों की बसें थी। उन्होंने बताया कि आतंकी पहले इस हमले को 9 जुलाई को अंजाम देना चाहते थे, लेकिन उस दिन सीआरपीएफ या अमरनाथ यात्रियों की कोई भी बस सुनसान जगह पर नहीं मिली। इसलिए आतंकियों ने अगले दिन हमले को अंजाम दिया। आईजी ने बताया कि आतंकियों ने अमरनाथ यात्रियों की बस के लिए 'शौकत' और सीआरपीएफ की बस के लिए 'बिलाल' कोड वर्ड रखा था।

बता दें कि आतंकियों ने 10 जुलाई की रात को अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमला किया था, जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि 19 यात्री जख्मी हो गए थे। मोटरसाइकल सवार आतंकियों ने यात्रियों की बस पर अंधाधुंध फायरिंग की। हमले को अंजाम देने के बाद आतंकी फरार हो गए।