पाक की 'नापाक' चाल के खिलाफ यूरोप में व्यापक अभियान

नई दिल्ली (12मई): कश्मीर के गिलगिट-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान में मिलाये जाने की कोशिशों के खिलाफ यूरोप में व्यापक जन अभियान शुरु हो गया है। यूरोप में पाकिस्तान के खिलाफ इस अभियान की अगुवायी जुनैद कुरैशी कर रहे हैं। जुनैद कुरैशी मानवाधिकार कार्य़कर्ता और लेखक हैं। उन्हीं के आह्वान पर लगभग एक सप्ताह पहले बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में पाकिस्तान मूल के बेल्जियन सांसद डॉक्टर मंज़ूर ज़हूर इलाही ने गिलगिट को पाकिस्तान में शामिल किये जाने की कोशिशों के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान शुरु किया है।

बेल्जियन सांसद डॉक्टर मंज़ूर ज़हूर इलाही ने कहा कि पाकिस्तान सरकार कश्मीरियों के साथ धोखा कर रही है। पिछले 68 सालों में उसने भारत के खिलाफ हमेशा कश्मीरियों का फायदा उठाया है। कश्मीरियों के कंधे पर बंदूक रख कर हमेशा वो भारत पर निशाना साधता रहा है। अब वो अपने तिज़ारती फायदों के लिए कश्मीर के इस हिस्से पर कब्जा कर उसे चीन के हाथों गिरबी रखने की साज़िश कर रहा है।

बेल्जियन सांसद इलाही ने दुनिया भर में फैले कश्मीरियों से कहा है कि वो पाकिस्तान की इस नापाक चाल का विरोध करें और गिलगित को चीन के हाथों गिरबी रखे जाने से बचाने के लिए आगे आयें। बेल्जियन सांसद डॉक्टर मंज़ूर ज़हूर इलाही को इस हस्ताक्षर अभियान में कश्मीरी मूल के काउंसिलर मोताहर चौधरी समेत कई लोगों का समर्थन हासिल हुआ है। जुनैद चौधरी के मुताबिक पाकिस्तान की नापाक हरकतों के खिलाऱ वियेना, जिनेवा, पेरिस और लंदन में भी इस तरह के व्यापक हस्ताक्षर अभियान चलाये जा रहे हैं। ये अभियान दुनिया के बाकी हिस्सों में भी जारी रहेंगे।