किसान ने आसाराम पर लगाया जमीन हड़पने का आरोप

भूपेंद्र सिंह, अहमदाबाद (29 जून): रेप के आरोप में जेल में बंद आसाराम की मुश्किलें बढ़ती जा रही है।, अब आसाराम पर जबरन जमीन हड़पने का आरोप लगा है। अहमदाबाद में असाराम ने एक किसान की ज़मीन हड़प ली और किसान को दोषी भी बना दिया। अब किसान इंसाफ के लिए भटक रहा है।

नयनेश शाह नाम के किसान का आरोप है कि आसाराम ने उसके पुश्तैनी जमीन पर कब्जा कर लिया है। नयनेश शाह का इल्ज़ाम है कि उनके बाप-दादाओं की ज़मीन पर असाराम ने अवैध कब्जा कर रखा है। नयनेश के मुताबिक 1978 में असाराम ने करोड़ों रुपये कीमत की 15 हजार स्क्वायर यार्ड की उनकी पुश्तैनी ज़मीन हड़प कर उसपर महिला आश्रम बना दिया और 11 फ्लैट भी बनवा दिए।

शिकायकर्ता के मुताबिक ये ज़मीन खेती की है और इसपर निर्माण नहीं किया जा सकता। आसाराम ने इस ज़मीन को हथियाने के लिए 1981 में एक ट्रस्ट बनाया जिसमे खुद मुख्य ट्रस्टी बने, फिर 1985 में असाराम ने एक गिफ्ट डील बनवाई जिसके तहत ये दिखाया गया की ये ज़मीन असाराम के ट्रस्ट को गिफ्ट की गई है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि फर्जी हस्ताक्षर और  फर्जी कागजात के जरिए आसाराम ने गिफ्ट डील तो बना ली, लेकिन उसने इस डील को रजिस्टर नहीं करवाया।

इसी को आधार बनाकर जमीन को कब्जे से वापस लेने के लिए शिकायतकर्ता कोर्ट पहुंच गए। जब इस जमीन की सच्चाई सामने आई तो सब हैरान रह गए। लेकिन नयनेश की दायर याचिका के खिलाफ आसाराम का पूरा कुनबा भी खड़ा हो गया और आश्रम में बने रिहाइशी फ्लैट को जायज ठहराने के लिए कोर्ट में दलीलें भी दी जा रही है। फिलहाल ज़मीन पर आसाराम का कब्जा है और पूरा मामला कानूनी लड़ाई में उलझा हुआ है। आपको बता दें कि इसी जमीन के करीब लाला ठाकोर की भी जमीन है, ये वही लाला हैं जिसपर आसाराम के सुपारी किलर कार्तिक ने 2013 में गोलियां चलाई थी।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=SPTKyQnQxUY[/embed]