लालू यादव की बिगड़ी तबीयत, शुगर और बीपी कंट्रोल करने में जुटे डॉक्टर

अमिताभ ओझा, न्यूज 24, रांची (7 फरवरी): चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की तबीयत अचानक ज्यादा बिगड़ गई है। रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी रिम्स अस्पताल के डॉक्टर लालू यादव का इलाज कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि किडनी के बाद अब आरडेडी प्रमुख के लीवर का एंजाइम बढ़ गया है। साथ ही शुगर लेवल भी अनियंत्रित है। जानकारी के मुताबिक अचानक बढ़े रक्त शर्करा स्तर को काबू में लाने के लिए उनको दी जाने वाली इंसुलिन की मात्रा बढ़ा दी गई है। साथ ही डॉक्टरों ने तेल घी खाने पर रोक लगा दी है।

रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती लालू प्रसाद पहले से ही बीपी और शुगर के मरीज हैं। पिछले माह यूरीनरी इन्फेक्शन के कारण भी वह काफी परेशान रहे थे। फिलहाल इन्फेक्शन नहीं है। लेकिन काफी पहले कार्डियेक सर्जरी भी की गयी है, जिसमें हार्ट का वाल्व बदला जा चुका है। वह क्रोनिक किडनी डिजीज (स्टेज थ्री) के मरीज हैं। इसके अलावा प्रोस्टेट, हाइपर यूरीसिमिया, पेरियेनल इंफेक्शन, किडनी स्टोन, फैटी लीवर आदि की समस्या भी है। बीते अक्तूबर में तो अनियंत्रित ब्लड शुगर की वजह से उनके नर्वस सिस्टम पर बुरा असर पड़ने लगा था। जब भी वह बिस्तर से उठने की कोशिश करते थे, चक्कर आने लगता था। डॉक्टरों के अनुसार इसे चिकित्सकीय भाषा में ऑटोनॉमिक न्यूरोपैथी कहते हैं। जिसमें ब्रेन का ब्लड सप्लाई कम हो जाता है और मरीज को चक्कर आने लगता है।

आपको बता दें कि चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे 70 साल के लालू प्रसाद यादव रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती हैं। उन्हें कई तरह की बीमारियों ने घेर रखा है, चिकित्सक उनका इलाज कर रहे हैं। कभी-कभी उनकी परेशानी ज्यादा बढ़ जाती है। आपको बता दें कि चारा घोटाला, मिट्टी घोटाला, रेलवे टेंडर घोटाला, इत्यादि कई घोटालों में नाम आने के बाद लालू यादव और उनके परिवार की इन दिनों परेशानी बढ़ी हुई है।