लालू के परिवार पर कसा सीबीआई का शिकंजा, राबड़ी और तेजस्वी से घंटों पूछताछ

नई दिल्ली (7 जुलाई): बेनामी संपत्ति और रेलवे के होटल घोटाले मामले में घिरे आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर शिकंजा कसता जा रहा है। शुक्रवार को लालू परिवार के 12 ठिकानों पर सीबीआई ने छापे मारे, तो वहीं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके छोटे बेटे तथा राज्य के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से घंटों सवाल किए गए।


राष्ट्रीय जनता दल के नेता लालू प्रसाद यादव के घर पर सीबीआई अफसरों का जमावड़ा लगा रहा। पटना स्थित लालू के घर पर सीबीआई के दो दर्जन से ज्यादा अधिकारी मौजूद रहे। सीबीआई ने राबड़ी देवी और तेजस्वी से 10 घंटे तक पूछताछ की। शुक्रवार सुबह साढ़े 7 बजे से सीबीआई ने लालू के घर पर छापेमारी शुरू की। साथ ही लालू आवास से कई अहम कागजात भी जब्त किये गये हैं। करीब 8 से 10 घंटे चली पूछताछ के बाद सीबीआइ की टीम राबड़ी आवास से निकल गई है।


राबड़ी देवी और तेजस्वी के बयान को सीबीआइ अधिकारियों ने सीलबंद लिफाफे में बंद किया है। पूछताछ के दौरान राबड़ी देवी और तेजस्वी को नजरबंद कर दिया गया था। केवल तेजप्रताप यादव ही अपने आवास में घूम रहे थे। साथ ही लालू आवास से कई अहम कागजात भी जब्त किये गये हैं। करीब 10 घंटे चली पूछताछ के बाद सीबीआइ की टीम राबड़ी आवास से निकल गई है। राबड़ी देवी और तेजस्वी के बयान को सीबीआइ अधिकारियों ने सीलबंद लिफाफे में बंद किया है। पूछताछ के दौरान राबड़ी देवी और तेजस्वी को नजरबंद कर दिया गया था। केवल तेजप्रताप यादव ही अपने आवास में घूम रहे थे।


छापे के दौरान सीबीआई ने तेजस्वी यादव, सरला गुप्ता और पीके गोयल के निवास से लैपटॉप, आईपैड और मैल पर निविदा संबंधी दस्तावेजों को प्राप्त किया. विनय कोचर और विजय कोचर से खाता विवरण और ई-मेल आईडी भी ली गईं. उनसे जिन कंपनियों में उन्होंने काम किया, वहां का विवरण भी प्रस्तुत करने के लिए कहा. बैंक खाते/लॉकर का भी विवरण लिया गया।


सूत्रों के मुताबिक सीबीआई के अधिकारियों की टीम ने राबड़ी देवी और उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव से पूछताछ की है। राबड़ी से 8 घंटे तक पूछताछ हुई है। तेजस्वी से भी देर शाम तक पूछताछ होती रही। सूत्रों के अनुसार तेजस्वी से पटना मॉल में हिस्सेदारी से संबंधित सवाल पूछे गए।