लालू ने नीतीश का नेतृत्व माना, तेवर पड़े नरम

पटना (15 सितंबर): शहाबुद्दीन विवाद के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के तेवर कुछ नरम पड़ते दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विवाद ख़त्म किया जाए। हमारे दिमाग में भी कोई विवाद नहीं है, अन्यथा विवाद खड़ा किया जा रहा है।

लालू ने कहा कि पिछला समय कभी लौट कर आएगा नहीं। प्रेजेंट को एन्जॉय करें। महागठबंधन की सरकार बेवकूफी में नहीं बनी है। कुछ लोग व्याकुल है हमें लड़वाने के लिए। ये सरकार नीतीश कुमार की नहीं है। महागठबंधन की सरकार है। नीतीश हमलोगों का सरदार है।

आरजेडी प्रमुख ने कहा कि लोगों को सलाह है क़ि पार्टी के अन्दर बोले। हमने नियम बनाए हैं क़ि तीनों दल के प्रदेश अध्यक्ष मिलकर प्रेस कांफ्रेंस करें। ग्रिवांस सेल भी बना देंगे जो कहना है कहे। इससे बीजेपी को लाभ हुआ है। हम लोगों ने मिलकर नेता नीतीश को बनाया हैं। देश में सब मॉस लीडर है, कोई कम नहीं है। बेवजह बिना जानकारी के आभाव में किसी को जलील नहीं करना चाहिए। NDA के लोग का शहाबुद्दीन ही एजेंडा है।