लालू ने दी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शहाबुद्दीन को जगह

पटना (4 अप्रैल): राष्ट्रीय जनता दल के अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव ने एक बार फिर ऐसा काम किया है, जिससे बिहार में हड़कंप मच गया है। आरजेडी ने जेल में बंद पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जगह दी है।

शहाबुद्दीन को लंबे अरसे के बाद कमेटी में शामिल किया गया है। पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को कार्यकारिणी में जगह मिलने के बाद विपक्ष ने आरजेडी पर हमला बोला है। बीजेपी नेता और पूर्व उप मुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि शहाबुद्दीन लालू के चहेते हैं। जो व्यक्ति सजायाफ्ता है और पंचायत तक का चुनाव नहीं लड़ सकता उसे राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जगह दी गई है। वहीं बीजेपी के इस हमले का पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी ने जवाब दिया और कहा कि उन्हें पहले अपने गिरेबान में झांक कर देखना चाहिए।

आरजेडी की इस नई कार्यकारिणी में 5 उपाध्यक्ष, 4 महासचिव, 9 सचिव और 56 सदस्यों को जगह दी गई है जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और मंत्री तेज प्रताप यादव के अलावा बेटी मीसा भारती को भी जगह दी गई है। लालू प्रसाद यादव ने खुद रविवार को इसकी घोषणा की है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद पर रघुवंश प्रसाद सिंह, तस्लीमुद्दीन, मंगनी लाल मंडल, इलियास हुसैन और झारखंड की अन्नपूर्णा देवी को जिम्मेदारी दी गई है।

पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष के पद पर पूर्व की तरह प्रेमचंद गुप्ता बने हुए हैं। पार्टी के महासचिव रामदेव भंडारी को महासचिव पद से हटाकर राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल किया गया है। इनकी जगह एसएम कमर आलम को नियुक्त किया गया है। महासचिव के पद पर जयप्रकाश नारायण यादव, कांति सिंह, अब्दुल क्यूम अंसारी, सचिव के पद पर कुमकुम राय, झारखंड से जनार्दन पासवान, हर्षवर्द्धन सिंह, दिल्ली से संजय कुमार, सर्वजीत पासवान, केरल से सी. अजयानंद, यूपी से एडवोकेट नसीम खान और रविंद्र सिंह शामिल हैं।