लालू की ललकार, फांसी पर चढ़ जाएंगे लेकिन मोदी-शाह का गरुड़ तोड़ देंगे

अमिताभ ओझा, पटना (7 जुलाई):  सीबीआई छापेमारी से नाराज लालू प्रसाद ने रांची से पटना लौटने के बाद जमकर भड़ास निकाला। लालू ने इस कार्रवाई के पीछे नरेंद्र मोदी और अमित शाह की साजिश बताया। उन्होंने कहा कि फांसी पर चढ़ जाएंगे लेकिन मोदी का अहंकार और उनकी बुनियाद को हिला देंगे। लालू प्रसाद इस मामले में अपने बेटे तेजश्वी यादव और पत्नी राबड़ी देवी को आरोपी बनाए जाने से नाराज थे। लालू ने कहा कि छापेमारी के दौरान उनके परिवार के लोगों ने अधिकारियों को पूरा सपोर्ट किया है। हालांकि लालू प्रसाद के प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ही एक टीवी चैनल के रिपोर्टर से तेजश्वी की झड़प भी हो गई।


लालू प्रसाद ने कहा कि रांची में पशुपालन के मामले गवाही थी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम था। सुबह में खबर मिल की सीबीआई के 27 पदाधिकारी सर्च करने आये है। जानना चाहा कि कौन से मामले में आये हैं तो बताया गया कि कैबिनेट के डिसीजन से इतने दिनों के बाद प्राथमिकी दर्ज कर जांच करने आये है। इस बीच मे मीडिया के द्वारा चलाया गया कि राबड़ी देवी से पूछताछ किया गया तेजश्वी से पूछताछ किया गया।


मैंने घर वालों से कहा सीबीआई को कॉपरेटिव करो। अधिकारियों ने कहा ऊपर से आदेश है। जितना दोष सीबीआई का नहीं है इससे ज्यादा नरेंद्र मोदी और अमित शाह का है। हमने कहा कि सभी कागजातों को फोटो कॉपी कराकर देना। जो पेपर जांच एजेंसी को मिलता है वही सुशील मोदी प्रेस में देता है। हमने इज्जत के साथ सीबीआई अधिकारियों को भेजा। आगे भी कपरेट करेंगे। तेजश्वी नाबालिग था राबड़ी देवी कोई पब्लिक सर्वेंट नही है। यह IRCTC ओपन टेंडर का था। IRCTC का गठन 1999 में हुआ था और ये 2000 में काम करने लगा था। 2003 में सभी का प्रबंधन रेलवे ने IRCTC को दे दिया। मेरे रेल मंत्री बनने के पहले ही एनडीए सरकार ने निर्णय ले लिया था। इसी निर्णय के तहत 2006 में टेंडर किया गया। एक करोड़ 15 लाख डेवलप करने के लिए दिया गया। यह टेंडर ओपन बोली के आधार पर दिया गया था और जिसने सबसे ज्यादा बोली लगाया उसे ही टेंडर दिया गया। IRCTC को इन होटलों से 1 करोड़ 15 लाख मिला। ये बेतुका बात है कि जमीन रजिस्ट्री 2004 में हुआ और टेंडर 2006 में हुआ।


सीबीआई छापे से तिलमिलाए लालू यादव ने कहा कि वो फांसी के फंदे पर लटक जाएंगे लेकिन पीएम मोदी और अमित शाह का अहंकार तोड़कर रहेंगे। उन्होंने कहा कि ये लोग महागठबंधन को तोड़ने की साजिश में जुटे हैं लेकिन सफल नहीं होंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि ये लोग ममता बनर्जी, शरद पवार, अखिलेश यादव, अरविंद केजरीवाल को डरा रहे हैं। आरजेडी सूप्रीमों ने कहा कि बीजेपी को उखाड़ कर फेंक देंगे। लालू प्रसाद ने कहा 27 अगस्त को होने वाली रैली में ताकत का अहसास करा देंगे।