चैरिटी कमिश्नर का 'लालबाग के राजा' गणेश मंडल को बड़ा झटका

मुंबई (24 अगस्त): देशभर में गणेश चतुर्थी की तैयारी जोरों पर है। वहीं मुंबई में लालबाग के राजा के आगमन को लेकर यहां जोरों पर तैयारियां चल रही है। इन सबके बीच  'लालबाग के राजा' गणेश मंडल को चैरिटी कमिश्नर ने बड़ा झटका दिया है। चैरिटी कमिश्नर ने आदेश दिया है कि राजा को दान में मिलने वाले गहने और पैसों की काउंटिंग चैरिटी कमिश्नर कार्यालय के निगरानी में कि जायेगी। 

दान में मिले जेवरात का हरसाल नीलामी होती है और जिसमें गड़बड़झाला होने की शिकायत पिछले दिनों सामाजिक कार्यकर्ता महेश वेंगुरलेकर ने की थी। इसलिए पारदर्शकता बरतने के लिए अब तीन अधिकारियों के निगरानी में पैसों की गिनती और गहनों की नीलामी की जाएगी। साथ ही चैरिटी कमिश्नर ने चढ़ावे के पैसों को तत्काल अकाउंट में डालने और मंडल के खर्चे का पूरा हिसाब 10 दिन के अंदर चैरिटी कमिश्नर ऑफिस को सौंपे जाने का भी आदेश दिया है। 

आपको बता दें कि इस बार भगवान गणेश और पंडाल का 264.25 करोड़ रुपए का बीमा करवाया है। वहीं इस बार पंडाल में बप्पा 20 करोड़ के आभूषण धारण करेंगे। जीएसबी मंडल के गणपति पांच दिनों के लिए विराजते हैं और इन्हे मुंबई का सबसे महंगा गणपति माना जाता है। बता दें कि पंडाल में विराजमान होने वाले बप्पा की मूर्ति 11 फीट ऊंची होती है।‘बप्पा’ के शरीर के अंग जैसे कान, हाथ और मुकुट सोने के होते हैं। वहीं जिस सिंहासन पर विराजमान होते हैं वह चांदी का बना होता है।