इस लेडी IPS अफसर से थर्राते हैं नक्सली!

नई दिल्ली (20 जुलाई): असम की महिला IPS अफसर संजुक्‍ता पराशर बहादुरी का दूसरा नाम हैं। वह साल 2006 बैच की IPS अफसर हैं, जो असम के सोनितपुर जिले में बतौर एसपी तैनात हैं।

संजुक्‍ता पराशर बोडो उग्रवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन में मुख्य भूमिका निभा रही हैं। उनके नेतृत्व में पुलिस उग्रवादियों के लिए काल बन गई है। इस ऑपरेशन के उन्होंने 2015 में करीब 16 आतंकियों को मार गिराया, जबकि 64 को गिरफ्तार किया। 2014 में 175 और 2013 में 172 आतंकियों को जेल पहुंचाया दिया।

ऐसे बनीं IPS अफसर: - संजुक्‍ता ने राजनीति विज्ञान से दिल्‍ली के इंद्रप्रस्‍थ कॉलेज से ग्रेजुएट किया है। - इसके बाद JNU से इंटरनेशनल रिलेशन में PG और US फॉरेन पॉलिसी में MPhil और Phd किया है। - साल 2006 बैच की IPS संजुक्‍ता ने सिविल सर्विसेज में 85वीं रैंक हासिल की थी। - उन्‍होंने मेघालय-असम कॉडर को चुना, असम उनका गृह राज्‍य भी है। - साल 2008 में उनकी पहली पोस्टिंग माकुम में असिस्टेंट कमांडेंट के तौर पर हुई। - उसके बाद उदालगिरी में बोडो और बांग्लादेशियों के बीच हुई हिंसा को काबू करने के लिए भेज दिया गया। - संजुक्‍ता ने IAS अफसर पुरु गुप्‍ता से शादी की है, जो असम-मेघालय कॉडर में नियुक्‍त हैं। - उनका एक बेटा है, उसकी देखरेख उनकी मां करती हैं।