कुपवाड़ा में आतंकी हमले के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुलाई बड़ी बैठक

नई दिल्ली ( 27 अप्रैल ): जम्मू-कश्मीर में सेना के कैंप पर एक बार फिर फिदायिन आतंकियों ने हमला किया है। गुरुवार को कुपवाड़ा में हुए हमले में तीन सैनिक शहीद हो गए। बीते कुछ वक्त से घाटी में बढ़ते आतंकी हमले और सुरक्षाबलों पर पथराव की घटनाओं ने मोदी सरकार की टेंशन बढ़ा दी है।


पिछले साल आठ जुलाई को लश्कर कमांडर बुरहान वानी के खात्मे के बाद से कश्मीर के हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। ऐसे में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की ओर से गुरुवार दोपहर बुलाई गई हाई लेवल मीटिंग पर सभी की नजर होगी।


राजनाथ की इस बैठक में सेना, पुलिस और अर्धसैनिक बलों के टॉप अधिकारी शामिल होंगे। माना जा रहा है कि घाटी के हालात से निपटने के लिए आगे की रणनीति की रुखरेखा तैयार की जाएगी।


राजनाथ की मीटिंग ऐसे वक्त में हो रही है, जब कुछ वक्त बाद ही अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है। राजधानी के गर्मियों में जम्मू से श्रीनगर शिफ्ट होने की प्रक्रिया के दौरान भी आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है। घाटी में सुरक्षाबलों के सामने लगातार बढ़ रही चुनौतियों के मद्देनजर यह बैठक बेहद अहम है।