AAP राष्ट्रीय परिषद की बैठक, कुमार विश्वास का ट्वीट- 'हम' बोले तो क्या होगा ?

नई दिल्ली (2 नवंबर): कई महीनों की शांति के बाद एकबार फिर आम आदमी पार्टी में घमासान की चिनगारी सुलगने लगी है। इनसबके बीच दिल्ली में आज आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय बैठक हुई। प्रवक्ताओं की लिस्ट से नाम हटाने के बाद कुमार विश्वास को राजस्थान प्रभारी के तौर पर अपनी बात रखने का मौका मिला। हालांकि बाहर यह खबरें नहीं आयी कि उन्होंने पार्टी के मंच पर क्या कहा। 

इस बीच कुमार विश्वास का एक ट्वीट सबके सामने आया है। इस ट्वीट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि अभी भी उनके अंदर बहुत कुछ बाकी है। वे अपनी बात प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष ढंग से कह ही देते हैं। कुमार ने ट्वीट किया, ख़ुशियों के बेदर्द लुटेरो, ग़म बोले तो क्या होगा, ख़ामोशी से डरने वालो, 'हम' बोले तो क्या होगा..??

ख़ुशियों के बेदर्द लुटेरो ग़म बोले तो क्या होगा ख़ामोशी से डरने वालो 'हम' बोले तो क्या होगा..?? ????

— Dr Kumar Vishvas (@DrKumarVishwas) November 2, 2017

इससे पहले कुमार विश्वास ने रिट्वीट किया था जिसमें लिखा है- सियासत में तेरा खोया या पाया नहीं जा सकता, तेरी शर्तों पर गायब या नुमाया नहीं हो सकता, भले साजिश में मुझको गहरे दफ्न भी कर दो, मैं सृजन का बीज हूं मिट्टी में जाया हो नहीं सकता।

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी ने ओखला के विधायक अमानतुल्लाह खान को पार्टी में बहाल कर दिया। अमानतुल्लाह खान ने अप्रैल-मई के महीने में कुमार विश्वास पर बीजेपी का एजेंट होने का आरोप लगाया था, जिसके बाद पहले उनको पार्टी की सर्वोच्च निर्णय लेने वाली इकाई पोलोटिकल अफेयर्स कमिटी से निलंबित किया गया और जब इससे भी कुमार विश्वास नहीं माने तो अमानतुल्लाह को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया। लेकिन अपने विधायक को पार्टी में बहाल करते हुए आम आदमी पार्टी ने ये साफ नहीं किया है कि अमानतुल्लाह खान के कुमार विश्वास पर लगाये आरोप सही पाए गए या गलत? क्या अमानतुल्लाह की पार्टी में बहाली का मतलब ये माना जाए कि उनको आरोप सही थे? तो फिर कुमार विश्वास पर पार्टी क्या कार्रवाई कर रही है? अगर आरोप गलत और निराधार थे तो अमानतुल्लाह पर क्या कार्रवाई कर रही है पार्टी? क्या 6 महीने पार्टी से निलंबन सज़ा माना जाए? जबकि इस दौरान अमानतुल्लाह ख़ान के कद में कोई कमी नहीं आई।