कुलगाम मुठभेड़ में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि, शवों को भेजा गया उनके गांव

श्रीनगर (13 फरवरी): जम्मू-कश्मीर के कुलगामा में रविवार सुबह आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद हो गए थे। आतंकियों से लोहा लेते हुए ‘बादामी बाग छावनी में वीर दिवंगत लांस नायक भंडोरिया गोपाल सिंह मुनिमसिंह और सिपाही रघुवीर सिंह की मौत हो गई थी।

अहमदाबाद निवासी लांस नायक भंडोरिया गोपाल सिंह और उत्तराखंड के चमौली निवासी सिपाही रघुवीर सिंह हिज्बुल आतंकियों से मुकाबला करते हुए शहीद हो गए। उनके अतिरिक्त तीन अन्य सैनिक घायल भी हुए हैं। आज दोनों शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई और उनके शवों को सेना ने सम्मान के साथ उनके गांव के लिए रवाना कर दिया है।

रविवार सुबह सुरक्षाबलों को यारीपुरा के एक घर में आतंकियों के छिपने की खबर मिली थी। इसके बाद सेना ने इस इलाके को चारों ओर से घेर लिया। आतंकियों के मारे जाने के बाद सुरक्षाबलों ने यहां से कई हथियार भी बरामद किए। मुठभेड़ के दौरान एक आम नागरिक की भी मौत हो गई।

लांस नायक भंडोरिया गोपाल सिंह मुनिमसिंह और सिपाही रघुवीर सिंह निस्वार्थ साहस के प्रतीक और कुलगाम के फ्रीसल क्षेत्र में यह अभियान शुरू करने वाले दल के प्रमुख थे। अभियान में चार आतंकियों का सफाया हो गया।