IND VS ENG:अश्विन के सपॉर्ट के लिए कुलदीप को मौका दें विराट: गांगुली

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (9 अगस्त): इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज खेल रही भारतीय टीम भले ही एजबेस्टन में सीरीज का पहला टेस्ट मैच हार गई हो लेकिन पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली का मानना है कि एजबेस्टन टेस्ट क्रिकेट के बेहतरीन उदाहरण में से एक है। एक अखबार में गांगुली ने लिखे अपने एक कॉलम में लिखा कि, भारत-इंग्लैंड के बीच खेला गया सीरीज का पहला टेस्ट इस बात का शानदार उदाहरण है कि खेल का ऑरिजनल वर्जन में आखिर कैसे किसी भी क्रिकेटर का सही टेस्ट होता है। टेस्ट क्रिकेट खेल का कांटा पेंडुलम की तरह 'कभी इधर, कभी उधर' बदलता रहता है।

गांगुली आगे लिखते हैं कि मैच के अंत में वही टीम टॉप पर पहुंचती है, जो अंत तक अपना धैर्य बनाए रखकर जीत के लिए जरूरी काम करती है। यहां पर गौर करने वाली बात ये है कि सौरभ गांगुली ने भारतीय कप्तान विराट कोहली की भी जमकर प्रशंसा की, जिन्होंने पहले टेस्ट में 200 रन (149 और 51) बनाए। बता दें कि गांगुली ने अपने लेख में लिखा, मुश्किल परिस्थितियों में शानदार प्रदर्शन करने के लिए उनका जज्बा और दृढ़-संकल्प हमेशा ही काबिले तारीफ रहा है। उनके शॉट सिलेक्शन और खेल किसी भी हिस्से में बोलरों पर हावी होकर खेलने की उनकी आदत उन्हें आसाधारण बनाती है। वह दुनिया के नंबर 1 बल्लेबाज हैं।

गांगुली आगे लिखते हैं। बर्मिंगम में उनके (विराट) लिए परिस्थितियां आसान नहीं थीं, लेकिन कोहली ने यह साबित कर के दिखाया कि जब परिस्थितियां आपके अनुकूल न हों, तब भी आप रन बना सकते हैं। उनका यह जज्बा टीम के दूसरे खिलाड़ियों के लिए एक सीख है कि उन्हें भी अपने कप्तान की तरह संघर्ष करना होगा। मैं व्यक्तिगत तौर पर मानता हूं कि विराट कोहली की टीम में जो बैटिंग लाइनअप है वह इंग्लिश परिस्थितियों में भी रन बना सकती है।