पीएम मोदी की सेना को खुली छूट, कृष्णा घाटी में बोफोर्स की तैनाती शुरू

नई दिल्ली (5 मई): सेना के जवानों के साथ पाकिस्तान की बैट टीम के द्वारा की गई बर्बरता का करारा जवाब देने की तैयारी शुरू हो चुकी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सेना और सरकार में मौजूद बड़े सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक अब कृष्णा घाटी में बदले का ब्लू प्रिंट तैयार हो चुका है।


कृष्णा घाटी में बोफोर्स तोपों की तैनाती हो गई है। इसके साथ ही करीब चार हजार से ज्यादा अतिरिक्त जवान सरहद पर युद्धस्तरीय तैयारी और मानसिकता के साथ मुस्तैद कर दिए गए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से सही जवाब देने की हरी झंडी दी जा चुकी है। वहीं रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने भी सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत से साफ शब्दों में कह दिया है कि पड़ोसी को जो भाषा समझ में आए उसी भाषा में जवाब दिया जाए।


सूत्रों ने कहा है कि पाकिस्तान को ये पता है कि उसने जो किया है, उसका जवाब हिंदुस्तान जरूर देगा, इसलिए वो भी तैयारी में हैं। लेकिन इधर से जिस जवाब की तैयारी हो रही है, उसकी पाकिस्तान ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी।


ख़ुफ़िया सूत्रों के मुताबिक़ एजेंसियों ने पीओके में चार-पांच एक्टिव बैट ट्रेनिंग कैंप मार्क किए थे, ये कैंप एलओसी से करीब 10-12 किलोमीटर दूर पीओके में संचालित हो रहे हैं। ऐसे हर कैंप में तीन दर्जन से ज्यादा पाकिस्तानी सेना के कमांडो को ट्रेनिंग दी जा रही है।